ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपन्नू की हत्या की साजिश में गिरफ्तार निखिल गुप्ता ने अमेरिका में अब तक नहीं मांगा काउंसलर एक्सेस

पन्नू की हत्या की साजिश में गिरफ्तार निखिल गुप्ता ने अमेरिका में अब तक नहीं मांगा काउंसलर एक्सेस

अमेरिका में खालिस्तानी समर्थक गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या के आरोप में निखिल गुप्ता अमेरिका की जेल में बंद हैं। भारत ने कहा है कि उन्होंने अब तक भारत से काउंसलर एक्सेस की मांग नहीं की है।

पन्नू की हत्या की साजिश में गिरफ्तार निखिल गुप्ता ने अमेरिका में अब तक नहीं मांगा काउंसलर एक्सेस
nikhil gupta
Jagritiलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 22 Jun 2024 11:08 AM
ऐप पर पढ़ें

शनिवार को भारत ने एक बयान जारी कर कहा है कि पन्नू हत्याकांड के आरोपी ने अभी तक अमेरिका में काउंसलर एक्सेस नहीं मांगा है। चेक रिपब्लिक से अमेरिका प्रत्यर्पित किए जाने के बाद निखिल गुप्ता की ओर से भारतीय अधिकारियों को अभी तक काउंसलर एक्सेस के लिए कोई अनुरोध नहीं मिला है। निखिल गुप्ता पर खालिस्तानी आतंकवादी गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ हत्या की साजिश रचने का आरोप है। उन्हें पिछले साल चेक रिपब्लिक में गिरफ्तार किए जाने के बाद बीते 14 जून को वहां से अमेरिका प्रत्यर्पित किया गया था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने एक बयान में कहा, "हमें अभी तक गुप्ता से काउंसलर एक्सेस के लिए कोई अनुरोध नहीं मिला है, लेकिन उनके परिवार ने हमसे संपर्क किया है। काउंसलर एक्सेस का मतलब होता है कि विदेश में कैद कोई भी व्यक्ति अपने देश के अधिकारी या डिप्लोमैट से मिलने की इजाजत मांग सकता है। गिरफ्तार शख्स खुद काउंसलर एक्सेस मांग सकता है। निखिल गुप्ता जब तक चेक रिपब्लिक में हिरासत में थे भारतीय अधिकारियों को उन तक काउंसलर की पहुंच मिली हुई थी। अमेरिकी के सरकारी वकीलों का आरोप लगाया है कि निखिल गुप्ता ने पिछले साल न्यूयॉर्क में गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या के लिए एक भारतीय अधिकारी के साथ साजिश रची थी। अमेरिका और कनाडा का ड्यूल सिटीजन पन्नू आतंकवाद के आरोपों में भारत में वांटेड है।

गुप्ता को काउंसलर एक्सेस मिलेगा या नहीं यह वियना कन्वेंशन पर निर्भर करता है। कन्वेंशन के अनुच्छेद 36 में कहा गया है कि हिरासत में लिए गए व्यक्ति काउंसलर एक्सेस के लिए अनुरोध करने का अधिकार है।अमेरिका में प्रत्यर्पण के बाद, निखिल गुप्ता को न्यूयॉर्क की फेडरल कोर्ट में पेश किया गया, जहां उसने अपने खिलाफ लगे आरोपों को खारिज किया है। उस पर ‘मर्डर फॉर हायर’ की साजिश रचने के आरोप हैं जिसके लिए अधिकतम 10 साल की जेल की सजा हो सकती है। कोर्ट ने गुप्ता को 28 जून को अगली पेशी होने तक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है।

अमेरिकी अटॉर्नी जनरल मेरिक गारलैंड ने कहा कि अमेरिका अपने नागरिकों को नुकसान पहुंचाने के प्रयासों को बर्दाश्त नहीं करेगा। भारत ने पन्नू की हत्या के कथित प्रयास में किसी भी तरह की संलिप्तता से इनकार करते हुए कहा है कि ऐसी कार्रवाई सरकारी नीति के खिलाफ है। सरकार ने आरोपों की उच्च स्तरीय जांच भी शुरू की है।