NHRC issues notices to WB Govt over violence in Asansol Raniganj - पश्चिम बंगाल हिंसा: NHRC ने पश्चिम बंगाल सरकार व पुलिस प्रमुख को नोटिस दिया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पश्चिम बंगाल हिंसा: NHRC ने पश्चिम बंगाल सरकार व पुलिस प्रमुख को नोटिस दिया

नेशनल ह्यूमन राइट्स कमीशन (एनएचआरसी) ने रानीगंज और आसनसोल में हुई हिंसा के मामले में पश्चिम बंगाल सरकार और पुलिस प्रमुख को नोटिस दिया है। एनएचआरसी ने स्थानीय डीजी(इनवेस्टिगेशन) को आदेश भी दिया है कि मामले की जांच जल्द से जल्द की जाए। आपको बता दें कि रामनवमी पर बर्धमान पश्चिम जिले के रानीगंज क्षेत्र में निकाले गए जुलूस को लेकर दो समूहों के बीच हुई हिंसक झड़प हो गई थी. इसमें एक शख्स की मौत हो गई थी और दो पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

इसके बाद आसनसोल समेत दूसरे इलाकों में भी हिंसा की आग भड़क उठी थी। फिलहाल इन इलाकों में धारा 144 लागू है। पुलिस को इंटरनेट सेवा अस्थायी तौर पर रोक दी है। 

एक दिन पहले ही पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा लगायी गई निषेधाज्ञा को नहीं मानते हुए बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने रामनवमी हिंसा के बाद स्थिति का जायजा लेने के लिए आज आसनसोल का दौरा किया। इसने स्थति को नियंत्रित करने में ''नाकामी के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन के नेतृत्व में भाजपा के चार सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने कड़ी सुरक्षा के बीच आसनसोल का दौरा किया। प्रतिनिधिमंडल के सदस्य राहत शिविरों में भी गए, जहां उनके साथ भाजपा के स्थानीय नेता भी मौजूद थे।
         
बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने आरोप लगाया, ''यह कोई साम्प्रदायिक दंगा नहीं, बल्कि एक सरकारी दंगा है। दंगों के दौरान पुलिस मूक दर्शक थी। उन्होंने दावा किया कि दंगा राज्य प्रशासन, तृणमूल कांग्रेस और कोयला एवं मादक पदार्थ माफिया में लिप्त लोगों के बीच षड्यंत्र का परिणाम है ताकि स्थानीय लोगों को मूर्ख बनाया जा सके। 
     

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NHRC issues notices to WB Govt over violence in Asansol Raniganj