DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगले 5 साल में वैश्विक व्यवस्था में भारत का खोया हुआ रुतबा वापस लाना है: नरेंद्र मोदी

narendra modi address public meeting in ahmedabad   bjp twitter may 26  2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि लोकसभा चुनावों में मिले जनमत ने वैश्विक व्यवस्था में भारत के खोए रुतबे को वापस पाने का अवसर उपलब्ध कराएगा। गुजरात भाजपा इकाई की ओर से आयोजित नागरिक अभिनंदन समारोह में मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से भारी जीत के बाद विनम्र रहने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, ''अगले पांच साल भारत और दुनिया दोनों के संदर्भ में काफी अहम रहने वाले हैं। अच्छी बात यह है कि अब हमारी सरकार पूर्ण बहुमत की है और उसे राजग के मजबूत सहयोगियों का समर्थन भी प्राप्त है।''

मोदी ने कहा, ''अगले पांच वर्ष देश के इतिहास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे जैसा कि 1942 से 1947 तक का काल था।" उन्होंने कहा, ''अगला पांच साल वैश्विक व्यवस्था में भारत के यथोचित स्थान को फिर से हासिल करने का समय होगा। अतीत में हमारे देश को वह स्थान प्राप्त था। मुझे पक्का विश्वास है कि भारत वैश्विक व्यवस्था में अपना महत्व फिर हासिल करेगा। यह लोगों की अंतरात्मा को जागृत करने और देश को आगे ले जाने का वक्त है। यह भारत को समस्याओं से मुक्त देश बनाने का संकल्प लेने का वक्त है।"

प्रधानमंत्री ने खानपुर इलाके में भाजपा कार्यालय के बाहर जे पी चौक पर जनसभा को संबोधित किया। इस कार्यालय में पहले भाजपा की राज्य इकाई काम करती थी, लेकिन बाद में गांधीनगर में प्रदेश कार्यालय की स्थापना की गयी। इस भवन में अब पार्टी की शहर इकाई का कार्यालय है। मोदी ने राजनीति में अपने शुरुआती दिनों में इस छोटे से कार्यालय में बिताये गए अपने कई वर्षों को याद किया। उन्होंने कहा कि 2012 के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद उन्होंने आखिरी बार जे पी चौक में किसी जनसभा को संबोधित किया था।

प्रधानमंत्री मोदी खानपुर कार्यालय में भी गए और याद किया कि किस प्रकार 'एक छोटे' से कमरे में बैठकर उन्होंने कितना कुछ सीखा। उन्होंने करीब 20 मिनट कार्यालय में बिताए। उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष जीतू वघानी, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और अन्य नेताओं ने भी कार्यालय का दौरा किया। मोदी ने इससे पहले जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों ने राजनीतिक पंडितों को स्तब्ध कर दिया है।

उन्होंने कहा, ''छठे चरण के प्रचार अभियान के दौरान मैंने पहली बार कहा था कि हम 300 सीटों का आंकड़ा पार करेंगे। उस समय कई लोगों ने मेरे बयान का मजाक उड़ाया...मैंने प्रचार के दौरान देखा कि लोग सरकार को फिर से चुनना चाहते थे। लोग सरकार को मजबूती देना चाहते थे। उनको मालूम था कि उनके वोट उन्हें सुरक्षा और समृद्धि दिलाएगी।'' उन्होंने कहा कि इस बार के नतीजों की व्याख्या के लिए 'लहर' शब्द का इस्तेमाल काफी नहीं है।

मोदी ने सूरत बिल्डिंग अग्नि त्रासदी में 22 विद्यार्थियों की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा, ''कल तक मेरे मन में दो स्थिति थी, एकतरफ इस अभिनंदन समारोह में जाऊं या नहीं, क्योंकि वहां कर्तव्य जुड़ा था, दूसरी तरफ उन लोगों के प्रति करुणा थी जिनकी सूरत में मृत्यु हो गयी। जिन परिवारों ने इस त्रासदी में अपने बच्चों को खोया है, उनका दर्द कोई भी शब्द कम नहीं कर सकता।" प्रधानमंत्री ने कहा, ''एक तरफ यह भी था, मुझे कर्तव्य के तौर पर राज्य के लोगों को धन्यवाद देना था और अपनी मां का आशीर्वाद लेना था।" उन्होंने कहा कि सूरत की दुखद घटना को देखते हुए कार्यक्रम को सादा रखा गया था।

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस कार्यक्रम में कहा कि मोदी ने 2001 से 2014 तक गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान 'गुंडाराज' का खात्मा किया। उन्होंने कहा, ''यही कारण है कि लोग नरेंद्र भाई में बहुत अधिक विश्वास जताते हैं। उन्होंने कई गांवों का दौरा किया, कई पार्टी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया और फिर गुजरात को पार्टी का गढ़ बनाया। उन्होंने 2001 में गुजरात के विकास की यात्रा शुरू की थी और 2014 में देश की विकास यात्रा शुरू की है।''

शाह ने कहा, ''एक ऐसा वक्ता था जब गुजरात कर्फ्यू और दंगों के लिए जाना जाता था। लोगों को रथ यात्रा निकालने में दिक्कत आती थी। मोदी के मुख्यमंत्री बनने के बाद ये सारी चीजें खत्म हो गईं। उन्होंने गुजरात की पानी की समस्या एवं ग्रामीण इलाकों में बिजली उपलब्ध कराने की समस्या को खत्म किया।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Next 5 years is time to regain India lost position in world Says Narendra Modi in Ahmedabad