New year will see new equations in the Rajya Sabja and BJP will be single largest party - राज्यसभा: नए साल में दिखेगा नया समीकरण, बीजेपी होगी बड़ी पार्टी DA Image
13 दिसंबर, 2019|4:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यसभा: नए साल में दिखेगा नया समीकरण, बीजेपी होगी बड़ी पार्टी

Rajya Sabha

नए साल में राष्ट्रपति की ओर से ताज़ा नॉमिनेशन और चुनाव के बाद नए साल में राज्यसभा की तस्वीर पूरी तरह से बदली हुई नज़र आएगी। 245 सदस्यीय उच्च सदन में इस वक्त भाजपा और कांग्रेस दोनों के पास 57-57 सदस्य हैं। लेकिन,  भारतीय जनता पार्टी 67 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी होगी जबकि एनडीए के सीटों का आंकड़ा बढ़कर 98 हो जाएगा।
 

राज्यसभा में बीजेपी बनेगी सबसे बड़ी पार्टी
विपक्षी कांग्रेस का मौजूदा 57 का आंकड़ा सिमटकर जुलाई तक 48 पर आ जाएगा। यानि, अगर कांग्रेस और उसके सहयोगी की राज्यसभा में कुल सीटों की बात करें तो यह 72 से घटकर 63 पर आ जाएगी।

सत्तधारी भाजपा को राज्यसभा में यह बढ़त हाल में हुए उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा, झारखंड और उत्तराखंड चुनाव में मिली जीत के बाद मिली है। जबकि, कांग्रेस का पिछले तीन वर्षों के दौरान विधानसभा चुनाव में शिकस्त के चलते राज्यसभा में संख्याबल कम होगा।

कांग्रेस के बाद सबसे ज्यादा नुकसान सपा को  
जहां तक भाजपा के सहयोगी दलों की बात है तो  टीडीपी की वही स्थिति रहेगी जैसी है। जेडीयू को एक सीट का नुकसान होगा और उनकी संख्या छह हो जाएगी। 
विरोधी दलों की अगर बात करें तो आरजेडी के मौजूदा संख्या बल 3 में और 2 को बढ़ोत्तरी हो जाएगी। टीआरएस का आंकड़ा 2 से पांच हो जाएगा। तो वहीं, कांग्रेस के बाद राज्यसभा में जिसे सबसे ज्यादा नुकसान होगा वो है समाजवादी पार्टी। सपा को उच्च सदन में पांच सीटों का नुकसान होग।
  
यह अनुमान उप-चुनाव के साथ ही कई राज्यों में 2018 में होने जा रहे दो वर्षों के अंदर राज्यसभा के चुनाव पर आधारित है। भाजपा का 70 का आंकड़ा राष्ट्रपति की तरफ से छह महीने के अंदर नोमिनेशन के बाद ही पार कर जाएगा। नोमिनेशेन कैटगरी में चार सीटें खाली होगी। तीन अप्रैल में जबकि एक सीट जुलाई में।  

दिल्ली में कांग्रेस के हाथ से निकलेगी तीन सीटें
12 नोमिनेटेड सदस्यों में से 7 सदस्य मोदी सरकार के एहसानमंद हैं जिनमें से सुब्रमण्यम स्वामी सहित चार भाजपा के साथ आधिकारिक तौर पर सहयोगी बन गए हैं। आज से करीब चौदह दिन बाद यानि 16 जनवरी को कांग्रेस को दिल्ली की तीन राज्यसभा सीटों का नुकसान होगा। इनमें करन सिंह और जनार्दन द्विवेदी का नाम शामिल है जो अपना छह साल का कार्यकाल पूरा कर रहे हैं। उनकी जगह पर आप अपना उम्मीदवार भेजेगी।

सिक्किम डेमोक्रेटि फ्रंट के सिक्किम से एक मात्र राज्यसभा सदस्य हिश्ने लाचुंग्पा इस महीने अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं। लेकिन, एसडीएफ जो कि एनडीए की नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक एलाइंस के सहयोगी दल है वह दोबारा अपनी सीट बरकरार रखेगी।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के राज्यसभा सदस्य से इस्तीफा देने के चलते उत्तर प्रदेश में चुनाव कराया जाएगा। राज्य की सत्ताधारी भाजपा इस सीट को अपनी झोली में ले जाने में कामयाब रहेगी। जनवरी में ही भाजपा का स्कोर 58 हो जाएगी जकि कांग्रेस 54 के आंकड़े पर आ जाएगी। यह परिवर्तिन भाजपा को उच्च सदन में सबसे बड़ी पार्टी बना देगी।

राज्यसभा का मौजूदा समीकरण
कागंरेस- 57
भाजपा 57
सपा 18
एआईएडीएमके 13
तृणमूल 12
बीजद 8
वामदल 8
तेदेपा 6
राकांपा 5
द्रमुक 4
बसपा 4
राजद 3
ये भी पढ़ें: तीन तलाक विधेयक: राज्यसभा में सरकार आज करेगी पेश, फंस सकता है पेंच

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New year will see new equations in the Rajya Sabja and BJP will be single largest party