New traffic fines Due to heavy challans people turned to metro and bus traffic too decreased on roads - New Traffic Fines: भारी चालान के डर से लोगों ने किया मेट्रो-बस का रुख, सड़कों पर ट्रैफिक हुआ कम DA Image
12 दिसंबर, 2019|11:31|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

New Traffic Fines: भारी चालान के डर से लोगों ने किया मेट्रो-बस का रुख, सड़कों पर ट्रैफिक हुआ कम

crowd in metro  saumya khandelwal ht file photo

नए यातायात नियमों से बढ़े भारी जुर्माने से बचने के लिए दिल्लीवालों ने सार्वजनिक परिवहन का रुख कर लिया है। आंकड़ों के अनुसार सितंबर माह के प्रारंभिक दस दिनों में (अवकाश को छोड़कर) बसों और मेट्रो में यात्रा करने वालों की संख्या में क्रमश: 4.8 और 3.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

बस 

दिल्ली सरकार और डीटीसी से हासिल जानकारी के अनुसार, बसों में सफर करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 1 से 10 सितंबर के बीच छह कार्य दिवसों में 25,370,000 यात्रियों ने बस से सफर किया। जबकि, अगस्त में इसी अवधि के लिए यह संख्या 24,210,000 थी। यात्रियों की संख्या में 1,160,000 की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

मेट्रो 

डीएमआरसी से हासिल जानकारी के अनुसार, मेट्रो के विभिन्न कॉरिडोर पर यात्रा करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। 1 से 10 सितंबर के बीच छह कार्य दिवसों में 34,190,000 यात्रियों ने मेट्रो से सफर किया। जबकि, अगस्त में इसी अवधि के लिए यह संख्या 33,100,000 थी। मेट्रो यात्रियों की संख्या में 1,090,000 की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक दबाव घटा

यातायात पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने में हुई भारी बढ़ोतरी से यातायात के दबाव में काफी कमी आई है। प्रमुख चौराहों जैसे आईटीओ और राजौरी गार्डन जहां अधिकांशत: जाम की स्थिति बनी रहती थी, उसमें कमी आई है। यहां तक की व्यस्त समय (पीक आवर्स) में भी ट्रैफिक का दबाव कम हुआ है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:New traffic fines Due to heavy challans people turned to metro and bus traffic too decreased on roads