DA Image
8 मई, 2021|1:33|IST

अगली स्टोरी

भारत में कोरोना के नए मामले 2.5 लाख के पार, 11 राज्यों ने ऑक्सीजन की मांग की; पीएम ने की हाई लेवल बैठक

a health worker collects a swab sample to test for covid-19 at chhatrapati shivaji maharaj terminus

देश में शनिवार देर रात तक भारत में कोरोना वायरस के नए मामले 2.5 लाख को पार गया है। यह लगातार तीसरा दिन है जब देश में एक दिन में महामारी के दो लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही दिल्ली सहित 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ऑक्सीजन सिलेंडर, टीके की खुराक और रेमडेसिविर की मांग भी बढ़ गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कोविड-19 महामारी की स्थिति को 'चिंतित करने वाला करार दिया।

भारत में कोविड-19 रोगियों की संख्या 1.50 करोड़ और मृतकों की संख्या 1.75 लाख के करीब पहुंचने के नजदीक है। वहीं, राज्यों द्वारा हाल में बढ़े मामलों के रोकथाम और प्रबंधन के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बैठक की। कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए जन स्वास्थ्य तैयारियों की समीक्षा करने के लिए बुलाई गई बैठक में मोदी ने महामारी को हराने के लिए राज्यों में सहयोग का आह्वान किया और साथ ही कहा कि दवा निर्माण की पूर्ण राष्ट्रीय क्षमता का इस्तेमाल किया जाए। 

पीएम मोदी अधिकारियों के साथ की बैठक
बैठक में प्रधानमंत्री ने जांच, संपर्क का पता लगाने और फिर उपचार की दिशा में आगे बढ़ने पर जोर दिया और कहा कि इनका कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने राज्यों से बेहतर तालमेल सुनिश्चित करने और कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्पतालों में बिस्तर की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया। उन्होंने लोगों की चिंताओं के प्रति स्थानीय प्रशासन को संवेदनशील और आगे बढ़कर सक्रियता दिखाने पर जोर दिया। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर दवाइयों की बढ़ती मांग के मद्देनजर देश के दवा निर्माता उद्योग की पूरी क्षमता का उपयोग करने की आवश्यकता जताई तथा साथ ही रेमडेसिविर और अन्य दवाइयों की आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की। 

पीएम मोदी की संत समाज से अपील
इससे पहले मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर शनिवार को संत समाज से उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ को प्रतीकात्मक रखने की अपील की ताकि इस महामारी के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ी जा सके। केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की अध्यक्षता में 11 राज्‍यों-केन्‍द्र शासित प्रदेशों के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों की उच्‍चस्‍तरीय बैठक हुई। इस बैठक में राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों के साथ हाल ही में कोविड-19 के मामलों में हुई भारी वृद्धि की रोकथाम और प्रबंधन के किए गए उपायों की समीक्षा की गई । महाराष्‍ट्र, छत्‍तीसगढ़, राजस्‍थान, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, केरल, पश्चिम बंगाल, दिल्‍ली, कर्नाटक, तमिलनाडु और उत्‍तर प्रदेश में कोविड-19 के नए मामलों में अप्रत्‍याशित वृद्धि हुई है।

रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की मांग
मंत्रालय ने बयान में कहा, ऑक्‍सीजन सिलेंडर की आपूर्ति बढ़ाने, अस्‍पतालों में रेमडेसिविर की आपूर्ति बढ़ाने, वेंटीलेटर का भंडार बढ़ाने और वैक्‍सीन की खुराक की अधिक आपूर्ति जैसे मुद्दे लगभग सभी राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों ने रखे। बैठक में कई राज्‍यों ने मेडिकल ऑक्‍सीजन आपूर्ति के विवरण और रेमडेसिविर जैसी आवश्‍यक दवाओं के मूल्‍य को सीमित करने का मुद्दा उठाया और कहा कि यह दवा कालाबाजारी के जरिए बहुत अधिक कीमत पर बेची जा रही है।

डबल म्‍यूटेंट स्‍ट्रेन चिंता का कारण
मंत्रालय ने कहा, चर्चा में महाराष्‍ट्र में 'दोहरे उत्परिवर्तन वाला स्वरूप (डबल म्‍यूटेंट स्‍ट्रेन) प्रमुख चिंता का कारण रहा। दिल्‍ली सरकार ने केन्‍द्र सरकार के अस्‍पतालों में अतिरिक्‍त बिस्‍तर दिए जाने का अनुरोध किया और कहा कि 2020 में स्‍वास्‍थ्‍य संकट पर काबू पाने के लिए ऐसी सहायता दी गई थी। बयान के अनुसार, गृह मंत्रालय की अधिसूचना में राज्‍यों को उनके राज्‍य आपदा प्रतिक्रिया कोष के वार्षिक आवंटन में से 50 प्रतिशत भाग का उपयोग करने, राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के अंतर्गत 1 अप्रैल, 2021 की तिथि के अनुसार खर्च न की गई राशि का उपयोग कोविड प्रबंधन के लिए करने की भी अनुमति दी गई।

दिल्ली में भी स्थिति गंभीर
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महामारी की स्थिति के बारे में कहा, ''दिल्ली में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 24 घंटे में करीब 24 हजार नए मामले सामने आए हैं। एक दिन के अंदर संक्रमितों की संख्या करीब 19,500 से बढ़कर करीब 24 हजार हो गई है। इसलिए स्थिति काफी गंभीर एवं चिंताजनक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से बात की और उनसे दिल्ली में कोरोना वायरस रोगियों के लिए ऑक्सीजन, रेमडेसिविर और टोसीलीजुमैब की आपूर्ति करने का आग्रह किया। 

कांग्रेस ने लगाया कुप्रबंधन का आरोप
कांग्रेस ने कोरोना महामारी से निपटने में केंद्र सरकार पर कुप्रबंधन और अक्षमता का आरोप लगाते हुए शनिवार को कहा कि तत्काल सुधारात्मक उपाय नहीं किए गए तो देश को 'अभूतपूर्व विनाश का सामना करना पड़ेगा। वहीं, शनिवार को कोविड-19 से मरने वालों का वैश्विक आंकड़ा 30 लाख के पार चला गया। यह जानकारी जॉन हॉप्किंस यूनिवर्सिटी ने दी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:New coronavirus cases in India cross 2 5 lakh 11 states demand oxygen PM Modi held a high level meeting