ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशतो सही कहते थे कैप्टन अमरिंदर सिंह और गुलाम नबी आजाद! अध्यक्ष कोई भी हो, गांधी परिवार ही चलाएगा कांग्रेस

तो सही कहते थे कैप्टन अमरिंदर सिंह और गुलाम नबी आजाद! अध्यक्ष कोई भी हो, गांधी परिवार ही चलाएगा कांग्रेस

दिग्विजय सिंह ने कहा, 'नेहरू-गांधी परिवार हमारा नेता रहेगा। जो भी पार्टी अध्यक्ष बनेगा, वह उनके नेतृत्व में काम करेगा...। हमारी प्राथमिकता यह देखना है कि देश की स्थिति कैसे बेहतर होगी।'

तो सही कहते थे कैप्टन अमरिंदर सिंह और गुलाम नबी आजाद! अध्यक्ष कोई भी हो, गांधी परिवार ही चलाएगा कांग्रेस
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 30 Sep 2022 09:09 AM
ऐप पर पढ़ें

Congress President 2022: कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव नजदीक हैं और उम्मीदवारों को लेकर चर्चाएं तेज हैं। ऐसे में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री साफ कर रहे हैं कि पार्टी का नया प्रमुख चाहे कोई भी बन जाए, वह भी गांधी परिवार की अगुवाई में ही काम करेगा। खास बात है कि कांग्रेस से विदा ले चुके दिग्गज भी इशारों-इशारों में कहते रहे हैं कि पार्टी में अध्यक्ष के चुने जाने पर भी कमान गांधी परिवार के हाथों में ही रहेगी।

गुरुवार को दिग्विजय ने कहा, 'मैं यहां फार्म (नॉमिनेशन) लेने आया हूं और इसके बाद मैं भारत जोड़ो यात्रा के लिए वापस चला जाऊंगा। हर पीसीसी डेलीगेट को अध्यक्ष का चुनाव लड़ने का अधिकार है। मैंने नेहरू-गांधी परिवार के साथ अपने नामांकन पर चर्चा नहीं की है। मैंने एके एंटनी और खड़गे समेत वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की है।'

उन्होंने कहा, 'नेहरू-गांधी परिवार हमारा नेता रहेगा। जो भी पार्टी अध्यक्ष बनेगा, वह उनके नेतृत्व में काम करेगा...। हमारी प्राथमिकता यह देखना है कि देश की स्थिति कैसे बेहतर होगी। हम देश को बंटने या संविधान को कमजोर नहीं होने देंगे।'

क्या प्रियंका गांधी भी लड़ेंगी चुनाव? सोनिया संग बैठक के बाद लगी अटकलें; समझें स्थिति

पहले भाजपा की बात
भारतीय जनता पार्टी लगातार कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव पर सवाल उठाती रही है। हाल ही में राजस्थान के मुख्यमंत्री पद को लेकर पार्टी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा था, 'अशोक गहलोत कहते हैं कि अगर मैं पार्टी अध्यक्ष बना तो पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (राजस्थान के लिए) आगे की चीजें तय करेंगी। वह किस क्षमता से ऐसा करेंगी? वह पूर्व अध्यक्ष बन जाएंगी! क्या कांग्रेस को विधायकों को यह तय नहीं करना चाहिए? तो गांधी परिवार के हाथ में रिमोट कंट्रोल होगा! फर्जी चुनाव क्यों फिर?'

दरअसल, राजस्थान के मुख्यमंत्री को लेकर गहलोत से सवाल किया गया था। इसपर उन्होंने जवाब दिया, 'हमारे प्रभारी महासचिव अजय माकन और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया जी तय करेंगी कि वहां कब और क्या प्रक्रिया अपनाई जाएगी, क्योंकि मैं कांग्रेस अध्यक्ष बनने जा रहा हूं।' हालांकि, 71वर्षीय नेता अब अध्यक्ष पद की रेस से बाहर हो चुके हैं।

कांग्रेस को लेकर पूनावाला के जुबानी हमले रुके नहीं। उन्होंने पूछा, 'सर आपके अध्यक्ष बनने के बाद सोनिया गांधी क्यों और कैसे तय करेंगी? क्या वह स्थाई अध्यक्ष हैं और आप रिमोट कंट्रोल अध्यक्ष बनेंगे?'

कांग्रेस के दिग्गज भी उठा चुके सवाल
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से एक इंटरव्यू के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर सवाल किया गया था, तो उन्होंने जवाब दिया था, 'पार्टी छोड़े करीब एक साल हो गया, तो मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहूंगा।' हालांकि, बाद में उन्होंने कहा, 'आपको वाकई लगता है कि कोई चुनाव होने वाले हैं? क्या कभी हुए हैं? देशभर से पहले ही प्रस्ताव आने शुरू हो गए हैं या लाए जा रहे हैं कि उन्हें या इन्हें अध्यक्ष होना चाहिए।'

गहलोत के अध्यक्ष बनने की स्थिति में पार्टी पर नियंत्रण को लेकर सिंह ने कहा था, 'जब अध्यक्ष की अथॉरिटी के बारे में सवाल उठाए जाते हैं, तो यह स्वाभाविक है कि शो कौन चला रहा है।'

गुलाम नबी आजाद क्या बोले
अगस्त के अंत में कांग्रेस से करीब 5 दशकों बाद अलग होने वाले गुलाम नबी आजाद नई पार्टी के प्रचार-प्रसार में जुटे हैं। वह अपने इस्तीफे समेत कई बार राहुल गांधी पर निशाना साध चुके हैं। अगस्त में ही जब उनसे पूछा गया कि क्या राहुल को ही पार्टी का अध्यक्ष होना चाहिए या नहीं? उन्होंने जवाब दिया, 'अगर वह नहीं बनते हैं, तो जो भी बनेगा उसे उनका गुलाम बनना पड़ेगा और उनकी फाइलें उठानी होंगी। उनसे पूछिए कि वह पार्टी के लिए कितना समय देते हैं? उनके पास पार्टी के लिए समय नहीं है और मेरी टाइमिंग पर सवाल उठा रहे हैं? हम जब उनकी उम्र के तो 20 घंटे से ज्यादा समय दिया करते थे।'

रेस में ये चेहरे
खबर है कि शुक्रवार को नामांकन के अंतिम दिन केरल के तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर और पूर्व सीएम सिंह पर्चा दाखिल कर सकते हैं। इनके अलावा वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और पवन कुमार बंसल का नाम भी चर्चा में है। इससे पहले भी मुकुल वासनिक, कुमारी शैलजा, केसी वेणूगोपाल जैसे नामों को लेकर खबरें आ चुकी हैं।

epaper