DA Image
27 फरवरी, 2020|4:31|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोवाः सूटकेस और खरीद-फरोख्त से नहीं, इस तरह बनाई सरकार- गडकरी    

nitin gadkari

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने खुलासा किया कि गोवा में भाजपा ने कैसे अपनी हार को रातोंरात सरकार बनाने के लिए जरूरी आंकड़ा जुटाकर एक जीत में तब्दील कर दिया जिसके बाद तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर मुख्यमंत्री बने। गडकरी ने कहा कि कांग्रेस सो रही थी तो उनकी पार्टी सरकार बनाने के लिए पूरी रात लगी रही। उन्होंने उन आरोपों को भी पूरी तरह खारिज कर दिया कि सरकार बनाने के लिए खरीद-फरोख्त की गई।

हाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 13 सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस 17 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ने कहा कि मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं कि जो राजनीतिक सौदेबाजी करे। मैं मर्द हूं और सब कुछ खुलकर करता हूं। मैं गोवा में किसी के पास पैसे लेकर नहीं आया। मैं इस तरह की चीजें नहीं करता हूं। मैं लड़ता हूं और चीजों को पूरा करता हूं।

सरकार बनाने का दावा पेश करने से पहले की रात के घटनाक्रमों को बयां करते हुए गडकरी ने कहा कि उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को सूचित किया कि गोवा में भाजपा चुनाव हार चुकी है और हार स्वीकार कर लेनी चाहिए। शाह ने उनसे रणनीति तैयार करने को कहा क्योंकि वह पहले ही गोवा में सरकार बनाने का ऐलान कर चुके थे। गडकरी ने कहा कि शाह ने उनसे सीधे गोवा जाने के लिए बोला। 

उन्होंने कहा कि पणजी के ताज होटल में एमजीपी नेता सुदीन धवलीकर उनसे मिलने आए और कुछ मुद्दे साझा किए और फिर मंत्री बनने की शर्त के साथ भाजपा से गठबंधन पर सहमति जताई। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एमजीपी के साथ आने से संख्या 16 तक पहुंच गई और फिर उन्होंने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई संपर्क किया। सरदेसाई मंत्री पद के साथ मनोहर पर्रिकर को मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे।
      
गडकरी ने कहा कि मैंने रात 2:45 बजे अमित शाह को फोन किया। मैंने उनसे कहा कि यहां लोग मनोहर पर्रिकर को मुख्यमंत्री चाहते हैं। अमित शाह से पूछा कि क्या पर्रिकर तैयार हैं। मैंने पर्रिकर से पूछा तो उन्होंने कहा कि पार्टी जो कहेगी वह वैसा करेंगे। मैंने यह बात अमित शाह को बताई। उन्होंने कहा कि शाह ने सुबह आठ बजे तक प्रधानमंत्री से बात करके जवाब देने का वादा किया। बाद में उनका फोन आया और हामी भरी। पर्रिकर को लेकर संसदीय बोर्ड भी तैयार था।


 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Neither suitcase nor horse-trading,strategy won us Goa:Gadkari