ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश30 छात्रों को बांटे पेपर, वसूले लाखों रुपये; नीट कांड में बिहार से गिरफ्तार आरोपी उगल रहे राज

30 छात्रों को बांटे पेपर, वसूले लाखों रुपये; नीट कांड में बिहार से गिरफ्तार आरोपी उगल रहे राज

नीट यूजी पेपर लीक का मामला परत-दर-परत खुलता जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक 30 लोगों को पेपर बांटने वाले 3 लोगों को बिहार में गिरफ्तार कर लिया गया है। बिहार में इस केस से जुड़े 13 लोगों की गिरफ्तार।

30 छात्रों को बांटे पेपर, वसूले लाखों रुपये; नीट कांड में बिहार से गिरफ्तार आरोपी उगल रहे राज
Upendraलाइव हिन्दुस्तान,पटनाSun, 23 Jun 2024 10:51 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में नीट यूजी पेपर लीक के मामले में को गिरफ्तार किए गए लोगों के पास नीट परीक्षा के पेपर और उनकी आंसरशीट की कॉपी थी। मानव संसाधन मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया कि पुलिस की रिपोर्ट में 13 लोगों का जिक्र है, जिन्हें अभी तक इस मामले में बिहार से गिरफ्तार किया जा चुका है। जांच और गिरफ्तारी के दौरान पुलिस को कई प्रवेश पत्रों की फोटोकॉपी एक आईफोन और एक वनप्लस का मोबाइल भी मिला है।

 एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार सिकंदर यादवेन्दु, अखिलेश कुमार और बिट्टू कुमार नाम के व्यक्तियों से पूछताछ करने पर पुलिस को पता चला कि उन्होंने चारों अभ्यर्थियों के बीच प्रश्नपत्र और आंसरशीट बांटी थीं। जिन्हें यह पेपर और आंसर की दी गई, पुलिस ने उनसे पूछताछ की तो पता चला कि केवल उन्हें ही नहीं बल्कि 25 से 30 और लोगों को भी यह पेपर दिए गए थे। गिरफ्तार किए गए शख्स ने पुलिस को बताया कि उसने हर एक पेपर के बदले 30 से 40 लाख रुपये लिए हैं।

नीट मामले में सीबीआई ने दर्ज किया एफआईआर
उल्लेखनीय है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की लिखित शिकायत के आधार पर राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट)(यूजी) में कथित अनियमितताओं के मामले में आपराधिक मामला दर्ज किया है। सूत्रों ने बताया कि प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि गत पांच मई को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित नीट (यूजी) 2024 परीक्षा के दौरान कुछ राज्यों में कुछ अलग-अलग घटनाएं हुईं।

यह परीक्षा 571 शहरों में 4,750 केंद्रों पर आयोजित की गई थी, जिसमें 14 विदेशी शहर भी शामिल थे। परीक्षा में 23 लाख से अधिक उम्मीदवार शामिल हुए थे। उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्रालय ने सीबीआई से कथित अनियमितताओं के पूरे मामले की व्यापक जांच करने का अनुरोध किया है, जिसमें षडयंत्र, धोखाधड़ी, प्रतिरूपण, विश्वासघात और उम्मीदवारों, संस्थानों और बिचौलियों द्वारा सबूतों को नष्ट करना, अनियमितताओं का प्रयास करना शामिल है।

जांच के लिए गठन की गई थी विशेष टीम
मंत्रालय ने सीबीआई से परीक्षा के आयोजन से जुड़े लोक सेवकों की भूमिका, यदि कोई हो, की जांच करने तथा घटनाओं के पूरे दायरे और बड़ी साजिश की जांच करने का अनुरोध किया है। सीबीआई ने तदनुसार एक आपराधिक मामला दर्ज किया है और जांच शुरू की है। मामले की सर्वोच्च प्राथमिकता पर जांच करने के लिए सीबीआई द्वारा विशेष टीमों का गठन किया गया है एवं इन टीमों को पटना और गोधरा भेजा जा रहा है जहां स्थानीय पुलिस ने मामले दर्ज किए हैं।

Advertisement