DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन सालों में सीमापार से आतंकियों के घुसपैठ की 398 घटनाएं, 126 घुसपैठी मारे गए

indian soldiers pushed back a group of pakistani intruders in jammu and kashmir   s keran on tuesday

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने मंगलवार को बताया कि वर्ष 2016 से 2018 के दौरान सीमापार घुसपैठ की 398 घटनाएं हुईं और इनमें 126 घुसपैठी मारे गए। लोकसभा में निशिकांत दुबे के प्रश्न के लिखित उत्तर में रेड्डी ने यह भी कहा कि घुसपैठ के प्रयासों को विफल करने के दौरान इन तीन वर्षों में 27 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए और 49 जवान घायल हो गए।

उन्होंने कहा कि साल 2016 में सीमापार घुसपैठ की 1119, साल 2017 में 136 और साल 2018 में 143 घटनाएं हुईं। रेड्डी ने कहा कि घुसपैठ को विफल करने के दौरान चार घुसपैठियों को गिरफ्तार भी किया गया।

धार्मिक अल्पसंख्यकों से संबंधित 41,331 पााकिस्तानी और 4,193 अफगान नागरिक रह रहे
वहीं दूसरी ओर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को बताया कि धार्मिक अल्पसंख्यकों से संबंधित 41,331 पाकिस्तानी नागरिकों और 4,193 अफगानिस्तानी नागरिकों के भारत में रहने की सूचना मिली है।

लोकसभा में संजय जायसवाल के प्रश्न के लिखित उत्तर में राय ने कहा कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यक समूहों के सदस्यों की समस्याओं को देखते हुए यहां वर्ष 2014 में दीर्घावधि वीजा आवेदन पर कार्रवाई करने के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया गया है।

उन्होंने कहा, ''31 दिसंबर, 2018 की स्थिति के अनुसार धार्मिक अल्पसंख्यकों से संबंधित 41,331 पाकिस्तानी नागरिकों और 4,193 अफगानिस्तानी नागरिकों के दीर्घावधि आधार पर भारत में रहने की सूचना मिली है।"

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nearly 400 terrorists infiltrated into Jammu Kashmir in 3 years Centre govt tells Lok Sabha