DA Image
30 सितम्बर, 2020|7:03|IST

अगली स्टोरी

NDA सीट बंटवारे को जल्द अंतिम रूप देगा, लोजपा को मिल सकता है 32 का ऑफर, जानें BJP के खाते में कितनी सीटें

bihar assembly elections  bihar bjp  rjd  tejashwi yadav  grand alliance  nda  left party  bihar ele

बिहार विधानसभा चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर इस सप्ताह के आखिर में एनडीए की बैठक की संभावना है। अभी विभिन्न दलों के नेता आपस में चर्चा कर सीटों की संख्या के साथ हर दल के हिस्से में आने वाली सीटों को चिह्नित करने में जुटे हैं। लगभग 50 से 60 सीटें ऐसी हैं, जिनको लेकर एनडीए के तीनों दलों भाजपा, जद (यू) व लोजपा के अपने-अपने दावे हैं।

एनडीए में सबसे ज्यादा दिक्कत लोजपा के बड़े दावों को लेकर आ रही है। सोमवार को लोजपा नेता चिराग पासवान ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात भी की है। सूत्रों के अनुसार लोजपा ज्यादा सीटों पर अड़ने के बजाए अपनी पसंद की सीटों पर ज्यादा जोर दे रही है। इनमें कई सीटें ऐसी हैं, जिन पर दूसरे दलों की भी मजबूत दावेदारी है। ऐसे में उसकी पूरी मांग मान पाना संभव नहीं दिख रहा है। दबाव बनाने के लिए लोजपा जद (यू) के खिलाफ उम्मीदवार उतारने की बात कह रही है, क्योंकि जद (यू) बार-बार कह रहा है कि उसका भाजपा से गठबंधन है और लोजपा से कभी नहीं रहा है। ऐसे में लोजपा को साधने की जिम्मेदारी भाजपा पर है।

लोजपा को 32 सीटें मिलने की संभावना
सूत्रों के अनुसार ऐसी हालत में लोजपा का 42 सीटों का दावा बरकरार है, लेकिन उसे लगभग 32 सीटें मिलने की संभावना है। कुछ सीटें जीतनराम मांझी को भी दी जाएंगी, लेकिन इसमें उनके उम्मीदवार देखे जाएंगे। बाकी सीटों में जद (यू) का पलड़ा भारी रहेगा और वह भाजपा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा के सौ के आसपास सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना है। इस सप्ताह के आखिर में एक साथ बैठककर एनडीए नेताओं की ओर से सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है।

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए गुरुवार से नामांकन शुरू हो जाएंगे, पर अभी तक एनडीए के घटकदलों में सीट बंटवारे को लेकर फैसला नहीं हो पाया है। लोजपा गठबंधन के अहम सहयोगी भाजपा की तरफ से ऑफर की गई सीट की संख्या से खुश नहीं है। पार्टी ज्यादा सीट की मांग कर रही है। इस बीच, पार्टी के अंदर अकेले चुनाव लड़ने की मांग भी तेज होती जा रही है। अंतिम फैसला करने के लिए एक-दो दिन में संसदीय बोर्ड की बैठक हो सकती है।

बीजेपी का ऑफर हमारी उम्मीद से कम: लोजपा
लोजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि भाजपा की तरफ से जो ऑफर दिया गया है, वह हमारी उम्मीद से कम है। भाजपा गठबंधन में अहम सहयोगी है। ऐसे में हमने उनके सामने अपनी मांग रखी है। हमें उम्मीद है कि भाजपा हमारी मांग को मानते हुए ज्यादा और मजबूत सीट देगी। यह पूछे जाने पर कि क्या लोजपा अकेले चुनाव लड़ सकती है, उन्होंने कहा कि सभी विकल्प खुले हैं। इस बारे में अंतिम निर्णय पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक में लिया जाएगा।

पार्टी 42 से अधिक मजबूत सीट पर अपनी दावेदारी कर रही है। पर भाजपा ने अभी सिर्फ 27 सीट ऑफर की है। लोजपा नेता ने कहा कि विधान परिषद और राज्यसभा की सीट मिलती है, तो पार्टी सीट कम करने पर विचार कर सकती है। इस बीच, पार्टी के अंदर अकेले चुनाव लड़ने की मांग तेज हो रही है। पार्टी 143 सीट पर अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर चुकी है।

चिराग पासवान जल्द बुलाएंगे संसदीय बोर्ड की बैठक
लोजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान जल्द संसदीय बोर्ड की बैठक बुलाकर भाजपा के साथ चर्चा के बारे में जानकारी देंगे। संसदीय बोर्ड की बैठक में भी तय किया जाएगा कि भाजपा का ऑफर माना जाए या अकेले मैदान में उतरा जाए। इसलिए, अभी सभी विकल्प खुले हुए हैं। इस बीच, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव शाहनवाज अहमद ने कहा कि चिराग पासवान लोजपा की तरफ से चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

हनुमान मंदिर गए चिराग
लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने दिल्ली के प्राचीन हनुमान मंदिर पहुंचकर अपने पिता रामविलास पासवान के जल्द बेहतर स्वास्थ्य के लिए पूजा अर्चना की। चिराग पासवान के साथ उनके विधायक राजू तिवारी भी मौजूद थे। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान बीमार है और कई दिनों से अस्पताल में भर्ती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:NDA will finalize seat sharing soon LJP likely to get 32 seats