ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशनरेंद्र मोदी के समर्थन में पूरा NDA, चुना गया नेता; मीटिंग में बोले नीतीश- जल्दी बनाओ सरकार

नरेंद्र मोदी के समर्थन में पूरा NDA, चुना गया नेता; मीटिंग में बोले नीतीश- जल्दी बनाओ सरकार

बैठक में नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार का गठन जल्दी होना चाहिए। अब एनडीए का संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद पीएम मोदी के साथ वरिष्ठ नेता जाएंगे और सरकार गठन करने का दावा पेश करेंगे।

नरेंद्र मोदी के समर्थन में पूरा NDA, चुना गया नेता; मीटिंग में बोले नीतीश- जल्दी बनाओ सरकार
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 05 Jun 2024 06:41 PM
ऐप पर पढ़ें

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एनडीए की बैठक समाप्त हो गई है। इस मीटिंग में नीतीश कुमार और चंद्रबाबू नायडू एक साथ बैठे दिखे। सूत्रों के अनुसार बैठक में नीतीश कुमार, चंद्रबाबू नायडू समेत सभी घटक दलों ने समर्थन पत्र दे दिए हैं। ये पत्र भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के नाम लिखे गए हैं। कहा जा रहा है कि बैठक में नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार का गठन जल्दी होना चाहिए। अब एनडीए का संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद मोदी के साथ वरिष्ठ नेता जाएंगे और सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। इस मीटिंग में नरेंद्र मोदी को एकमत से एनडीए का नेता चुना गया।

इसके अलावा नरेंद्र मोदी के समर्थन में प्रस्ताव भी पारित किया गया। इस प्रस्ताव में कहा गया, 'नरेंद्र मोदी की लीडरशिप में हम सभी लोगों ने चुनाव लड़ा था और हम विजयी रहे हैं। सभी ने देश को बीते 10 सालों में तेजी से विकसित होते हुए देखा है। हमारा उनके नेतृत्व पर भरोसा है। उनके नेतृत्व में ही एनडीए को एक बार फिर से बहुमत हासिल हुआ है।' इस प्रस्ताव पर भाजपा से जेपी नड्डा, अमित शाह और राजनाथ सिंह समेत एनडीए के कुल 24 नेताओं के साइन किए गए हैं।

डबल N दर्द एकसाथ, PM मोदी की तीसरी शपथ से पहले क्यों नई टेंशन की चर्चा

खबर है कि नरेंद्र मोदी को नेता चुनने के बाद जल्दी ही राष्ट्रपति से एनडीए के नेता मिलेंगे और सरकार बनाने का दावा पेश किया जाएगा। नरेंद्र मोदी तीसरी बार 8 जून को ही पीएम पद की शपथ ले सकते हैं। उन्होंने आज ही राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलकर इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफे को राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया और कहा कि आप नई सरकार के गठन तक कामकाज संभालते रहें। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव रिजल्ट में भाजपा को 240 सीटें मिली हैं, जो बहुमत से 32 कम है। इसके चलते भाजपा को जेडीयू, टीडीपी समेत कई राजनीतिक दलों के समर्थन की जरूरत है, जो एनडीए का हिस्सा भी हैं।

Advertisement