ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देश2024 से पहले EVM पर फिर बवाल, शरद पवार ने विपक्षी नेताओं की बुलाई बड़ी बैठक; क्या है प्लान

2024 से पहले EVM पर फिर बवाल, शरद पवार ने विपक्षी नेताओं की बुलाई बड़ी बैठक; क्या है प्लान

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) चीफ शरद पवार ने कहा कि वह उन सभी राजनीतिक दलों के नेताओं को बैठक बुला रहे हैं, जिन्हें रूरल इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के इस्तेमाल को लेकर संदेह है।

2024 से पहले EVM पर फिर बवाल, शरद पवार ने विपक्षी नेताओं की बुलाई बड़ी बैठक; क्या है प्लान
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 22 Mar 2023 06:38 PM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार ने रूरल इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) पर चर्चा के लिए गुरुवार को बड़ी बैठक बुलाई है। उन्होंने राज्यसभा में विपक्षी दलों के फ्लोर नेताओं को इस मीटिंग के लिए आमंत्रित किया है। बैठक कल शाम 6 बजे पवार के घर पर होनी है। इसे लेकर सभी विपक्षी नेताओं को पत्र लिखा गया है। एनसीपी चीफ ने कहा कि वह उन सभी राजनीतिक दलों के नेताओं को बैठक में बुला रहे हैं, जिन्हें रूरल इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के इस्तेमाल को लेकर संदेह है।

शरद पवार ने कहा कि बैठक स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराए जाने को ध्यान में रखते हुए बुलाई गई है। साथ ही इस दौरान आईटी प्रोफेशनल्स और क्रिप्टोग्राफरों की राय भी सुनी जाएगी। इसके बाद ईवीएम के इस्तेमाल को लेकर अंतिम राय सामने आ सकती है। ध्यान रहे कि कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं और राजनीतिक दलों की ओर से रूरल ईवीएम को लेकर सवाल उठाए गए थे। इसे लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त की ओर से संदेहों का जवाब देने का वादा किया गया था।

चुनाव आयोग को भेजा गया पत्र
CCE की रिपोर्ट में बहुत ही प्रासंगिक सवाल उठाए गए हैं। इसमें जाने-माने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के प्रोफेसरों, क्रिप्टोग्राफरों और रिटायर्ड सरकारी अधिकारियों के विचार भी शामिल हैं। सिविल सोसाइटी की ओर से मई 2022 में ECI को इसे लेकर एक पत्र भेजा गया था। इसके 2 सप्ताह के बाद रिमाइंडर भी भेजा गया। हालांकि, ईसीआई ने उनके पत्र को स्वीकार ही नहीं किया। मालूम हो कि ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका को लेकर अक्सर सवाल उठते रहे हैं।

EVM पर कांग्रेस भी है एक्टिव
कुछ दिनों पहले कांग्रेस की ओर से कहा गया कि EVM को लेकर समान विचारधारा वाले दलों के साथ सहमति बनाई जाएगी। इसके बाद अगर आयोग ने इस विषय पर जवाब नहीं दिया तो वह अदालत का रुख करेगी। फरवरी में पार्टी के महाधिवेशन में पारित राजनीतिक मामले के प्रस्ताव में यह कहा गया है। कांग्रेस ने इस प्रस्ताव में कहा, '14 से अधिक मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों, कई प्रतिष्ठित एक्टिविस्ट्स और कंप्यूटर वैज्ञानिकों ने चुनाव आयोग को ईवीएम की प्रभावशीलता पर चिंता जताई है, लेकिन अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। जब मतदाताओं का चुनावी प्रक्रिया की सत्यनिष्ठा, खासकर ईवीएम से भरोसा उठ जाता है, तो हमारा लोकतंत्र भीतर से खोखला हो जाता है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें