ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशपाकिस्तान में नवाज शरीफ ने किया सरकार बनाने का दावा, क्या हैं भारत के लिए मायने

पाकिस्तान में नवाज शरीफ ने किया सरकार बनाने का दावा, क्या हैं भारत के लिए मायने

पाकिस्तान में नवाज शरीफ ने सरकार बनाने का दावा किया है। उनका कहना है कि उनकी पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं और ऐसे में वह गठबंधन की सरकार बनाएंगे।

पाकिस्तान में नवाज शरीफ ने किया सरकार बनाने का दावा, क्या हैं भारत के लिए मायने
Ankit Ojhaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 10 Feb 2024 10:14 AM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान में आम चुनाव के बाद वोटों की गिनती अभी पूरी नहीं  हो पाई है। हालांकि पीएमएल-एन नेता नवाज शरीफ ने अपनी जीत का ऐलान करते हुए सरकार बनाने का दावा किया है। पाकिस्तान में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला है। ऐसे में सरकार बनाने के लिए पीपीपी के समर्थन की जरूरत होगी। बताया जाता है कि पाकिस्तान की सेना नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहती है। वहीं बिलावल भुट्टो नवाज शरीफ को नहीं पसंद करते। ऐसे में शहबाज शरीफ फिर से प्रधानमंत्री बन सकते हैं। वहीं जीत का ऐलान करते हुए नवाज शरीफ ने पड़ोसियों के साथ बेहतर रिश्ते की बात कही है। यह संकेत है कि वह भारत के साथ संबंध सुधारना चाहेंगे। हालांकि सरकार में सेना का ज्यादा दखल रहा तो यह काम टेढ़ी खीर साबित होगा। 

नवाज के साथ पीएम मोदी का भी रहा अच्छा तालमेल
नवाज शरीफ के प्रधानमंत्री रहते हुए प्रधानमंत्री मोदी के साथ भी उनका अच्छा तालमेल दिखाई दिया था। नवाज शरीफ की मां के निधन पर पीएम मोदी ने शोक संदेश भेजा था जिसमें उन्होंने 'मियां साहेब' कहकर संबोधित किया था। 2015 में वह अचानक नवाज शरीफ से मिलने रावलपिंडी पहुंच गए थे। हालांकि इसके बाद ही पठानकोट में आतंकी हमला हुआ और सुधार की उम्मीदें फिर खटाई में पड़ गईं। हालांकि इमरान खान की तुलना में शरीफ के साथ पीएम मोदी के संबंध अच्छे दिखाई दिए। इमरान खान के पीएम बनने के बाद इस तरह की सारी बातचीत खत्म हो गई। 

पीएम मोदी ने 2015 में ही तीन बार शरीफ से मुलाकात की थी। दोनों देशों में बातचीत की शुरुआत हो गई थी लेकिन पठानकोट एयरबेस पर हमला होने के बाद सब बेकार साबित हुआ। भारत ने स्पष्ट कह दिया है कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद पर लगाम नहीं लगाता, उससे कोई बातचीत नहीं होगी। ऐसे में नवाज शरीफ चाहें तो भारत के साथ बातचीत फिर से शुरू हो सकती है। नवाज को सेना का भी समर्थन रहता है। नवाज और सेना के तालमेल से ही आतंकवाद पर भी लगाम लगाई जा सकती है। 

नवाज शरफ ने सरकार बनाने के लिए गठबंधन की कवायद शुरू कर दी है। वहीं इमरान खान के समर्थकों ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है। चुनाव के दौरान इंटरनेट पर रोक लगा दी गईथी। आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में 265 में से 236 पर नतीजे घोषित कर दिए गए हैं। जानकारी के मुताबिक इमरान खाने के समर्थन वाले उम्मीदवारों ने 100 सीटों पर कब्जा कर लिया है। वहीं पीएमएलएन नवाज ने 71 और पीपीपी ने 50 सीटों के आसपास जीती हैं। इमरान खान की तरफ से भी एक एआई वीडियो जारी किया गया है जिसमें आवाम को शुक्रिया कहा जा रहा है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें