DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशपूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह बोले, CWC की बैठक सिर्फ औपचारिकता, सोनिया गांधी 21 साल से हैं कांग्रेस की बॉस

पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह बोले, CWC की बैठक सिर्फ औपचारिकता, सोनिया गांधी 21 साल से हैं कांग्रेस की बॉस

हिन्दुस्तान,नई दिल्लीGaurav Kala
Sun, 17 Oct 2021 02:46 PM
पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह बोले, CWC की बैठक सिर्फ औपचारिकता, सोनिया गांधी 21 साल से हैं कांग्रेस की बॉस

पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने रविवार को कहा कि कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक सिर्फ एक औपचारिकता थी क्योंकि सोनिया गांधी 21 साल से पार्टी की बॉस हैं। नटवर सिंह ने कहा कि शनिवार को हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक का कोई ठोस परिणाम नहीं निकला है, क्योंकि बैठक से पहले शोर मचाने वाले सदस्य बैठक के दौरान चुप रहे। नटवर सिंह ने कहा कि पार्टी में जिस तरह से जमीन पर प्रदर्शन कर रही है, वह आगामी विधानसभा चुनावों में पांच में से एक भी राज्य नहीं जीत पाएगी। 

एएनआई से बात करते हुए पूर्व कांग्रेस दिग्गज और पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने कहा, "सीडब्ल्यूसी बैठक सिर्फ एक औपचारिकता थी क्योंकि सोनिया गांधी 21 साल से पार्टी की पूर्णकालिक बॉस हैं। पार्टी अध्यक्ष का अगला चुनाव सितंबर 2022 को होगा। पार्टी अध्यक्ष के लिए कोई रिक्ति नहीं थी। सोनिया गांधी ही पार्टी की बॉस हैं। वह 21 साल से पार्टी की बागडोर संभाल रही हैं। "

कांग्रेस के पूर्व दिग्गज ने कहा कि शनिवार को हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक का कोई ठोस परिणाम नहीं निकलना था क्योंकि बैठक से पहले शोर मचाने वाले सदस्य ही बैठक के दौरान चुप रहे।  सिंह ने कहा, "कांग्रेस पार्टी को मिलकर काम करना चाहिए नहीं तो वह राजनीति में भाजपा से पिछड़ जाएगी। नटवर सिंह ने कहा, "पार्टी जिस तरह से जमीन पर प्रदर्शन कर रही है, वह आगामी विधानसभा चुनावों में पांच में से एक भी राज्य नहीं जीत पाएगी। वैसे भी मुझे नहीं लगता कि कांग्रेस पार्टी एक से अधिक राज्यों में अपनी जीत दर्ज करेगी क्योंकि उसका कोई संगठन नहीं है। लेकिन ये भी सच है कि कोई अन्य पार्टी नहीं है। कांग्रेस के अलावा जो विपक्ष की भूमिका निभा सकती है।" 

सीडब्ल्यूसी की बैठक कांग्रेस पार्टी में सर्वोच्च निकाय है जो चुनाव और कई अन्य मुद्दों पर फैसला करती है। 23 (जी -23) नेताओं के समूह पर परोक्ष रूप से कटाक्ष करते हुए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को कहा था कि मीडिया के माध्यम से उनसे बात करने की कोई आवश्यकता नहीं है। सोनिया गांधी ने कहा, "मैंने हमेशा स्पष्टता की सराहना की है। मीडिया के माध्यम से मुझसे बात करने की कोई आवश्यकता नहीं है। हम सभी को एक स्वतंत्र और ईमानदार चर्चा करनी चाहिए।"

दरअसल, कांग्रेस के 23 सदस्यों (जी -23) के एक प्रतिनिधिमंडल ने पिछले साल अगस्त में सोनिया गांधी को एक पत्र लिखकर कई संगठनात्मक सुधारों की मांग की थी। बैठक से पहले जी-23 नेताओं ने सीडब्ल्यूसी सदस्यों, केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) के सदस्यों और संसदीय बोर्ड चुनावों के लिए चुनाव की मांग की थी। पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल, जो जी -23 के सदस्य हैं, ने कहा था कि पार्टी के नेता इस बात से अनजान हैं कि पार्टी में कौन निर्णय ले रहा है क्योंकि कोई अध्यक्ष नहीं है क्योंकि राहुल गांधी ने 2019 के आम चुनावों में चुनावी हार की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए AICC के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें