DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मसूद अजहर इस हफ्ते हो सकता है ग्लोबल टेररिस्ट घोषित, मोदी सरकार की हो सकती है बड़ी कूटनीतिक जीत

Maulana Masood Azhar attends a pro-Taliban conference in Islamabad in this August 26, 2001 file phot

पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) प्रमुख मसूद अजहर को एक मई को वैश्विक आतंकवादी (ग्लोबल टेररिस्ट) घोषित किया जा सकता है। इस मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि चीन एक मई को संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने को लेकर अपना रवैया बदल सकता है। 

अगर अजहर मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कर दिया जाता है तो यह नरेंद्र मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत हो सकती है। क्योंकि 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए दुनिया भर के देशों का समर्थन भारत सरकार को मिला था। 

पाकिस्तान की सेना ने माना, देश में पल रहे आतंकी-जिहादी समूह

एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया कि अगर मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया जाता है तो यह मौत की चेतावनी होगी। पुलवामा हमले के बाद यूएन में अमेरिका, फ्रांस और यूके के नेतृत्व में मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट करने की मांगा की गई थी लेकिन चीन ने उसका बचाव किया था।  उन्होंने बताया कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा 13 मार्च को रखे गए प्रस्ताव पर चीन के तकनीकी पकड़ हटाने की उम्मीद है। वहीं अन्य सभी सुरक्षा परिषद के सदस्यों ने इस कदम को मंजूरी दे दी। 

आपको बता दें कि चीन ने बीते 17 अप्रैल को इन खबरों को खारिज किया था कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्म्द के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर संयुक्त राष्ट्र में लगाई गई तकनीकी रोक को हटाने के लिए 23 अप्रैल तक की समयसीमा दी। चीन ने दावा किया कि यह एक पेचिदा मामला है और यह हल होने की दिशा में बढ़ रहा है।

आईएस प्रमुख बगदादी पांच वर्षों में पहली बार दिखा, सामने आया प्रॉपगैंडा वीडियो

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अल कायदा प्रतिबंध कमेटी में फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए नया प्रस्ताव लेकर आए थे। बहरहाल, चीन ने प्रस्ताव पर 'तकनीकी रोक' लगा दी थी। इसके बाद, अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के समर्थन से सीधे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अजहर को कालीसूची में डालने के लिए प्रस्ताव लेकर आया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Narendra Modi government would be major diplomatic victory Masood Azhar likely designation as a global terrorist