DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नांदेड़ लोकसभा सीट: बीजेपी के प्रताप गोविंदराव चिखलीकर ने कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक चव्हाण को दी मात

kheda lok sabha results 2019

भाजपा-शिवसेना ने महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 41 सीटों पर जीत हासिल की जबकि कांग्रेस को एक और राकांपा को चार सीटों पर जीत मिली। चुनाव में दो मौजूदा केंद्रीय मंत्रियों और दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा। शरद पवार नीत राकांपा पिछली बार के अपने प्रदर्शन को बरकरार रखने में कामयाब रही जबकि कांग्रेस को केवल एक सीट मिली। कांग्रेस को 2014 में दो सीटों पर जीत मिली थी। सत्तारूढ़ भाजपा-शिवसेना गठबंधन ने 2014 आम चुनाव में 42 सीटों पर जीत दर्ज की थी। महाराष्ट्र की नांदेड़ लोकसभा सीट से बीजेपी के प्रताप गोविंदराव चिखलीकर ने कांग्रेस के दिग्गज नेता अशोक चव्हाण को दी मात.

नांदेड़ मराठवाड़ा क्षेत्र में स्थित है और यह उन दो सीटों में से एक है जिस पर कांग्रेस ने 2014 जीत हासिल की थी। तब इस राज्य की कुल 48 सीटों में से केवल दो सीटें ही कांग्रेस जीत सकी थी। चव्हाण नांदेड़ के मौजूदा सांसद हैं। चव्हाण और चिखलीकर दोनों ही मराठा समुदाय से आते हैं और मतदाताओं को लुभाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।.

नांदेड़ सीट से 14 उम्मीदवार मैदान में -
नांदेड़ सीट से इस बार 14 उम्मीदवार मैदान में हैं। सपा ने इस सीट से अब्दुल समद अब्दुल करीम को प्रत्याशी बनाया है। वहीं वंचित अघाड़ी के टिकट पर धनगर समुदाय के यशपाल भींगे मैदान में हैं। 

चिखलीकर ने बताया कि भाग्यवश या दुर्भाग्यवश, मैं सभी प्रमुख दलों का हिस्सा रहा हूं। जिसमें कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी शामिल है। चिखलीकर 1995 से 2004 के बीच कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। हालांकि 2004 में चव्हाण से मतभेद के चलते उन्होंने पार्टी छोड़ दी और निर्दलीय चुनाव। इस दौरान उन्होंने राज्य में कांग्रेस नीत विलासराव देशमुख सरकार को समर्थन दिया। हालांकि, 2009 में वह चुनाव हार गए और इसके बाद एनसीपी में शामिल हो गए। बाद में 2014 में चिखलीकर लोहा विधानसभा सीट से शिवसेना के टिकट पर चुनाव जीते। हाल ही में चिखलीकर भाजपा से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उन्हें चव्हाण के खिलाफ मैदान में इसलिए उतारा है क्योंकि वह जमीनी स्तर के कार्यकर्ता हैं और हमेशा लोगों के लिए उपलब्ध रहते हैं। उन्होंने चव्हाण पर क्षेत्र के विकास के लिए काम नहीं करने का आरोप भी लगाया। .

प्रताप चिखलीकर ने बताया कि जब चव्हाण मुख्यमंत्री थे तो नांदेड़ को उससे कोई फायदा नहीं हुआ। यहां पर कोई नया उद्योग नहीं आया। पिछले पांच वर्षों में उनका प्रदर्शन जीरो रहा है। चिखलीकर ने बताया कि केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने नांदेड़ में आधारभूत संरचना का काम शुरू किया। वहीं मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली वर्तमान राज्य सरकार ने 45 करोड़ रुपये की जल भंडारण योजना *को भी मंजूरी दी है। वहीं चव्हाण का चुनावी अभियान संभाल रहे कांग्रेस विधायक पी सावंत ने इन आरोपों को खारिज किया। .

उन्होंने कहा कि विलासराव देशमुख सरकार में जब जब चव्हाण उद्योग मंत्री थे तब से यहां बुनियादी ढांचा काफी विकसित हो गया है। लातूर और नांदेड़ हवाई अड्डों का निर्माण 2004-05 में किया गया था और आज यहां से मुंबई और हैदराबाद के लिए दैनिक उड़ानें हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nanded Lok Sabha Election Result 2019 know all seats result of Maharshtra