DA Image
3 मार्च, 2021|2:34|IST

अगली स्टोरी

दीप सिद्धू और गैंगस्टर लक्खा पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार! लाल किला हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस की FIR में आया नाम

actor deep sidhu

कृषि कानूनों के खिलाफ गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर उपद्रवियों पर अब पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। लाल किले पर हुई हिंसा के संबध में पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू और लक्खा सिंह सिधाना की मुश्किलें बढ़ गई हैं। दिल्ली पुलिस ने लाल किले पर हुई हिंसा के सिलसिले में दर्ज प्राथमिकी में अभिनेता दीप सिद्धू और 'गैंगस्टर' से सामाजिक कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना के नाम लिए हैं। बता दें कि किसान नेताओं ने भी दीप सिद्धू और लक्खा पर किसानों को भड़काने और हिंसा फैलाने का आरोप लगाया है।

अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने भारतीय दंड संहिता, सार्वजनिक संपत्ति को क्षति से रोकथाम अधिनियम और अन्य कानूनों की प्रासंगिक धाराओं के तहत उत्तरी जिले के कोतवाली थाने में मामला दर्ज किया है। प्राथमिकी में प्राचीन स्मारकों और पुरातात्विक स्थलों और अवशेष अधिनियम तथा शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों को भी जोड़ा गया है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि लाल किला कांड में दीप सिद्धू भी शामिल था। प्राथमिकी में नाम आने के बाद अब इन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। 

यहां ध्यान देने वाली बात है कि दिल्ली हिंसा मामले में अब तक 93 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली में हिंसा के बाद सख्त हुई पुलिस ने 25 मुकदमे दर्ज किए हैं जबकि दर्जनों लोगों को हिरासत में रखा गया है। राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत सात किसान नेताओं पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है। उधर, हिंसा को शर्मनाक बताते हुए दो किसान संगठनों ने आंदोलन खत्म करने का ऐलान किया है।

सात किसान नेता आरोपी:
अलीपुर थाने में योगेंद्र यादव समेत सात किसान नेताओं के खिलाफ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, महामारी अधिनियम और आपदा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है। एसआई दीपक की शिकायत पर दर्ज शिकायत में पुलिस ने योगेंद्र यादव के अलावा, दर्शनपाल सिंह, जगजीत सिंह, राजेंद्र सिंह, गुमान सिंह चडूनी, बलबीर सिंह और सतनाम सिंह को समर्थकों के साथ आरोपी बनाया है। गाजीपुर में पुलिस ने भाकियू अध्यक्ष राकेश टिकैत और उनके समर्थकों पर भी एफआईआर दर्ज की है।

सीसीटीवी से तलाश: 
पुलिस के मुताबिक, हिंसक घटनाओं में शामिल लोगों की तलाश के लिए सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली जा रही है। कोतवाली पुलिस ने लाल किला परिसर में हुई हिंसा को लेकर मारपीट, दंगा, लूटपाट, आर्म्स एक्ट, सरकारी कर्मचारी पर हमला करने एवं प्राचीन महत्व की इमारतों की क्षति की धाराएं लगाई गई हैं।  पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मामले को स्पेशल सेल को सौंपने की तैयारी की जा रही है ताकि समग्रता से इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके।  

31 जनवरी तक लाल किला बंद
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के एक आदेश के मुताबिक लाल किला 27 जनवरी से 31 जनवरी तक आगंतुकों के लिए बंद रहेगा। हालांकि आदेश में इसके पीछे के कारण का उल्लेख नहीं है, लेकिन इसमें छह जनवरी और 18 जनवरी के पुराने आदेशों का उल्लेख किया गया है जिसके तहत प्रतिष्ठित स्मारक को बर्ड फ्लू अलर्ट के कारण 19 जनवरी से 22 जनवरी तक बंद कर दिया गया था ।

हिंसा के बाद स्थिति का जायजा
लाल किला गणतंत्र दिवस समारोह के चलते 22 जनवरी से 26 जनवरी तक बंद था। सूत्रों ने कहा कि 27 जनवरी को इसे आगंतुकों के लिए खोला जाना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। सूत्रों ने बताया कि 26 जनवरी को लाल किला परिसर में भड़की हिंसा के बाद एएसआई ने नुकसान का जायजा लेने के लिए गेट बंद रखने का फैसला लिया है। इससे पहले बुधवार को संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने घटना स्थल का दौरा कर एएसआई से घटना की रिपोर्ट मांगी है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Names of Punjabi actDeep Sidhu and gangster Lakka Sadana have also been included in an FIR registered in violence at Red Fort in Delhi on Jan 26