DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागेश्वर राव को कोर्ट में बिताने पड़े 6 घंटे, अवमानना के मामले में SC ने सुनवाई थी सजा

M Nageswara Rao (CBI Chief)

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के पूर्व अंतरिम निदेशक एम. नागेश्वर राव (Nageshwar Rao) को अदालत की अवमानना का दोषी करार दिया। कोर्ट ने इस मामले में नागेश्वर राव व एजेंसी के कानूनी सलाहकार को अदालत की कार्यवाही चलने तक दिन भर अदालत में ही रहने की सजा सुनाई। सुप्रीम कोर्ट ने सुबह करीब साढ़े 10 बजे नागेश्वर राव को कोर्ट में रहने की सजा सुनाई थी और शाम करीब चार बजकर 20 मिनट पर वह कोर्ट से निकले।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एल.नागेश्वर राव व न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने उन पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा कि एक न्यायाधीश के तौर पर अपने बीते 20 सालों में उन्होंने कभी अदालत की गरिमा व सम्मान के साथ कोई समझौता नहीं किया।

पूर्व CBI प्रमुख नागेश्वर राव ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी

शीर्ष अदालत की बिना मंजूरी लिए सीबीआई से पूर्व अतिरिक्त निदेशक ए.के.शमार् को रिलीव करने को लेकर नागेश्वर राव व सीबीआई के कानूनी सलाहकार को अदालत की नाराजगी का सामना करना पड़ा। नागेश्वर राव को अदालत की अवमानना का दोषी ठहराते हुए न्यायाधीशों ने उल्लेख किया कि 18 जनवरी 2019 को जब ए.के.शर्मा को रिलीव किया गया तो नागेश्वर राव अदालत के दोनों आदेशों से अवगत थे और उन्होंने संबंधित लोगों से अदालत से संपर्क करने को कहा था।

हालांकि, उसी दिन नागेश्वर राव ने ए.के.शर्मा को सीबीआई से रिलीव करने के डीओपीटी द्वारा भेजे गए एक मसौदा आदेश पर हस्ताक्षर कर दिया। ऐसा नागेश्वर राव ने शीर्ष अदालत को विश्वास में लिए बिना ही कर दिया। ए.के.शर्मा ने कहा था कि उन्हें सीबीआई से बाहर नहीं किया जा सकता है क्योंकि इसके लिए सीबीआई को अदालत की इजाजत लेनी होगी।

CBI चीफ की नियुक्ति: अब खड़गे ने जेटली को लिखा पत्र, जानें क्या कहा

गौरतलब है कि ए.के.शर्मा मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले की जांच कर रहे दल की अगुवाई कर रहे थे।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nageshwar Rao spent 6 hours in court SC convicts CBI additional director Nageswara Rao on contempt case