ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशदेश के इस पहाड़ी राज्य को मिला दूसरा रेलवे स्टेशन, 1903 में बना था पहला स्टेशन

देश के इस पहाड़ी राज्य को मिला दूसरा रेलवे स्टेशन, 1903 में बना था पहला स्टेशन

नागालैंड को 100 से अधिक वर्षों के अंतराल के बाद दूसरे रेलवे स्टेशन की सौगात मिली। मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने शोखुवी रेलवे स्टेशनल से डोनी पोलो एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

देश के इस पहाड़ी राज्य को मिला दूसरा रेलवे स्टेशन, 1903 में बना था पहला स्टेशन
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 26 Aug 2022 10:27 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

नागालैंड को 100 से अधिक वर्षों के अंतराल के बाद दूसरे रेलवे स्टेशन की सौगात मिली। मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने शोखुवी रेलवे स्टेशनल से डोनी पोलो एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इससे पहले राज्य के पहले रेलवे स्टेशन के रूप में दीमापुर रेलवे स्टेशन का उद्घाटन 1903 में हुआ था।

मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने शुक्रवार को शोखुवी रेलवे स्टेशन से डोनी पोलो एक्सप्रेस को झंडी दिखाकर रवाना किया। डोनी पोलो एक्सप्रेस असम के गुवाहाटी और अरुणाचल प्रदेश के नाहरलागुन के बीच प्रतिदिन चलती है। ट्रेन सेवा को अब दीमापुर से कुछ किलोमीटर दूर शोखुवी तक बढ़ा दिया गया है।

नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश को शोखुवी रेलवे स्टेशन तक डोनी पोलो एक्सप्रेस के विस्तार के साथ सीधे ट्रेन सेवा से जोड़ा जाएगा। रियो ने ट्वीट किया, "नागालैंड के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। राज्य को धनसारी-शोखुवी रेलवे लाइन पर 100 से अधिक वर्षों के अंतराल के बाद दूसरी रेलवे टर्मिनल यात्री सेवाएं मिली हैं।"

मुख्यमंत्री ने रेलवे अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने का भी अनुरोध किया कि दीमापुर रेलवे स्टेशन को विकास का उसका उचित हिस्सा मिले ताकि यह आगे बढ़े और न केवल नागालैंड के लोगों बल्कि मणिपुर और असम के पड़ोसी जिलों के लोगों को भी इस सेवा का मौका मिले।

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के महाप्रबंधक अंशुल गुप्ता ने कहा कि यह भारतीय रेलवे और एनएफआर के लिए गर्व का क्षण है जो पूर्वोत्तर राज्यों की सभी राजधानियों को समयबद्ध तरीके से रेलवे से जोड़ने का काम कर रहा है।

असम के धनसिरी से नागालैंड के कोहिमा जिले के जुब्जा तक 90 किलोमीटर लंबे ब्रॉड गेज मार्ग की आधारशिला 2016 में रखी गई थी और काम चल रहा है। इसकी समय सीमा 2020 से 2024 तक बढ़ा दी गई थी। गुप्ता ने कहा कि लाइन को न्यू कोहिमा और इंफाल के रास्ते आइजोल तक बढ़ाया जाएगा।