DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरा सामाजिक और राजनीतिक काम पीएसयू से आगे बढ़ाः धर्मेंद्र प्रधान

धर्मेंद्र प्रधान

हिन्दुस्तान की तरफ से देश के विकास में अहम भूमिका निभा रहे सार्वजनिक उप्रकमों को तीन केन्द्रीय मंत्रियों की तरफ से हिन्दुस्तान रत्न पीएसयू अवॉर्ड 2018 दिया जाएगा। पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान और महेश शर्मा ने विजेताओं को पुरस्कृत किया। समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों में न्यूज पेपर की डर, मोह और मोहब्बत को देखते हुए हमें आना ही पड़ता है। 

प्रधान ने बीते दिनों को याद करते हुए कहा कि उन्होंने चार साल एक पीएसयू सेक्टर में काम किया हैं। यहां कड़ी मेहनत और लगन से आगे बढ़ना होता है। उन्होंने कहा कि मेरे काम की समझ पीएसयू से बढ़ी है। मेरा सामाजिक और राजनीतिक काम पीएसयू से बढ़ा है। पीएसयू का काम मैंने बचपन से देखा है।

उन्होंने कहा कि पीएसयू में मेहनत के बावजूद यहां काम करने वाले लोगों के हिस्से में श्रेय की सबसे कम भागीदारी आती है। वहीं पीएसयू के अच्छे कार्यों की ज्यादा से ज्यादा भागीदारी हमें यानि राजनेताओं को मिलती है। अगर पीएसयू की ओर से कहीं कुछ भी गलत होता है तो इसका जिम्मेदार भी सिर्फ और सिर्फ पीएसयू को ही ठहराया जाता है। ऐसे चुनौतीपूर्ण माहौल में काम कर अच्छा परिणाम देना अपने आप में काबिल ए तारीफ है।

सामाजिक हित एक बड़ा लक्ष्य है। चुनौति भरे माहौल में जितना हमारे लोग काम करते हैं, इसकी तुलना में दुनिया का कोई भी देश कहीं खड़ा नहीं होता। उन्होंने पीएसयू की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उज्ज्वला योजना के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि 60 साल में 13 करोड़ एलपीजी नेटवर्क बन पाए थे। लेकिन चार साल में 10 करोड़ नए एलपीजी कनेक्शन दिए गये। देश के बुनियादी काम को करने में अगर सरकारी कंपनियां नहीं होती तो प्राइवेट कंपनियों से ये संभव नहीं हो पाता। 

पीएसयू का बड़ा लक्ष्य है समाजिक फायदे के साथ-साथ खुद का भी लाभ करना। हमारे नौजवान साथियों और सीनियर्स का मार्गदर्शन मायने रखता है। सभी पीएसयू ने जीम्मेदारी लेकर शौचालय बनवाए। सभी क्षेत्रों में पीएसयू का अहम योगदान है। हिन्दुस्तान के इस कार्यक्रम से अच्छा काम करने वालों को प्रोत्साहन मिलेगी। इस कार्यक्रम के लिए मैं हिन्दुस्तान समूह का आभारी हूं। अंत में उन्होंने कहा कि ऐसे ही हमारी आलोचना के साथ-साथ अच्छे कामों की तारीफ करते रहिए।

हिन्दुस्तान पीएसयू अवार्ड्स 2018: 'हिन्दुस्तान की रीढ़ हैं PSU'

पब्लिक सेक्टर अंडर टेकिंग में शॉर्टकट की कोई जगह नहीं: पीयूष गोयल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:My social and political work extended ahead of PSU says Dharmendra Pradhan