DA Image
6 दिसंबर, 2020|1:05|IST

अगली स्टोरी

किसानों से बैठक के बाद बोले कृषि मंत्री, MSP पर दूर करेंगे शंका, किसान कानून वापसी पर अड़े

narendra s tomar

कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ राजधानी की सड़कों पर डटे किसानों और सरकार के बीच शनिवार को पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही। लंबी बातचीत और मंथन के बाद तय सिर्फ यह हो सका कि अगले दौर की बातचीत 9 दिसंबर को होगी। हालांकि, बैठक के बाद कृषि मंत्री ने कहा है कि सरकार एमएसपी पर शंका दूर करने को राजी है। माना जा रहा है कि सरकार कानून में यह प्रावधान जोड़ सकती है कि किसानों के उत्पादों को न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे नहीं खरीदा जा सकेगा। हालांकि, किसान नेता अभी भी तीनों कानूनों को वापस लेने पर अड़े हैं।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, ''हमने कहा कि एमएसपी जारी रहेगा, इसे कोई खतरा नहीं है। इस पर शंका करना आधारहीन है। अभी भी यदि कोई शंकाग्रस्त है तो सरकार इसके समाधान को तैयार है।'' कृषि मंत्री ने आगे कहा, ''हम राज्यों में मंडियों को प्रभावित नहीं करना चाहते हैं। सरकार एपीएमसी को मजबूत करने के लिए कुछ भी करने को तैयार है। यदि किसी को एपीएमसी को लेकर कोई भ्रम है तो सरकार इसे स्पष्ट करने को तैयार है।''

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन: आज की बातचीत बेनतीजा, छठे दौर की बैठक 9 दिसंबर को

कोविड और ठंड को देखते हुए प्रदर्शन में शामिल बच्चों और बुजुर्गों को घर भेजने की अपील करते हुए कृषि मंत्री ने कहा, ''हमने किसानों से कहा है कि सरकार सभी मुद्दों पर विचार को तैयार है। यदि हमें किसान नेताओं से सुझाव मिलते हैं तो समाधान खोजना आसान होगा। मैं यूनियनों के कार्यक्रम पर कमेंट नहीं करना चाहता, लेकिन किसानों और उनके संगठनों से अपील करूंगा कि आंदोलन का रास्ता छोड़ दें और चर्चा के रास्ते पर आएं। सरकार ने कई दौर की बातचीत की है और आगे चर्चा और समाधान के लिए तैयार है।''

कृषि मंत्री ने कहा, ''मैं किसानों को विश्वास देना चाहता हूं कि मोदी सरकार आपके लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और भविष्य में भी रहेगी। पीएम मोदी के नेृतृत्व में कई कृषि कानूनों को लागू किया गया है। बजट और एमएसपी भी बढ़ाया गया है।''

यह भी पढ़ें: बैठक में मौन व्रत पर रहे किसान, अपनी मांगों पर हा या ना में मांगा जवाब

ऑल इंडिया किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा, ''हमने बैठक की शुरुआत में कहा कि हमारी मांग कानूनों को वापस लेने की है। हम इसमें संशोधन नहीं चाहते हैं। हमारा स्टैंड मजबूत है। आखिर में हमें बताया गया कि अगली बैठक 9 दिसंबर को होगी। हमें लगता है कि सरकार निश्चित तौर पर कानून वापस लेगी।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:MSP will continue if someone is suspicious then the government is ready to resolve it says Agriculture Minister Narendra Singh Tomar