DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकराल हुआ 'तितली', ओडिशा में तीन लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया

अधिकारियों ने बताया कि निचले और तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है।

बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती तूफान ‘तितली’ ने बुधवार को बेहद प्रचंड रूप ले लिया और यह ओडिशा-आंध्र प्रदेश तट की ओर बढ़ रहा है। भयंकर चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के पहुंचने से पहले ओडिशा में तटील जिलों से करीब तीन लाख लोग सुरक्षित स्थान पर पहुंचाये गए।

अधिकारियों ने बताया कि निचले और तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है। मौसम विभाग ने कहा कि 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाएं ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटों पर 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है और इनके साथ बारिश होगी। मौसम विभाग के समुद्र में ऊंची लहरें उठने के पूर्वानुमान के मद्देनजर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया। उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से तटीय क्षेत्र में निचले इलाकों में रह रहे लोगों को तुरंत सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने को कहा है। उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने को भी कहा कि चक्रवात के चलते किसी भी व्यक्ति की जान नहीं जाए और लोगों के लिए चक्रवात आश्रय स्थलों को तैयार रखने को भी कहा।

तितली चक्रवात:तड़के 5.30 बजे देगा दस्तक, रफ्तार होगी 165KM प्रति घंटा!

11 और 12 को सभी स्कूल-कॉलेज बंद
मुख्यमंत्री पटनायक ने कहा कि सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को 11-12 अक्तूबर को बंद रखा जाएगा। शिक्षक हालांकि ड्यूटी पर रहेंगे।

सभी अधिकारियों की छुट्टियों पर रोक
मुख्य सचिव एपी पाधी ने कहा कि राज्य में 11 अक्तूबर को होने जा रहे छात्र संघ चुनावों को रद्द कर दिया गया है। चक्रवात और इसके साथ भारी बारिश आने की संभावना के बीच सभी अधिकारियों की छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है। तूफान और बारिश से पूरे राज्य के चपेट में आने की संभावना है।  

आज भूस्खलन होने की संभावना
मौसम विभाग ने कहा कि ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापत्तनम के बीच गुरुवार तड़के भूस्खलन होने की संभावना है। अगले 18 घंटों में गुरुवार तड़के तक इसके बहुत गंभीर स्तर पर पहुंचने की भी संभावना है। वहीं विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में भारी से बहुत भारी वर्षा और कुछ इलाकों में  अत्यधिक भारी बारिश का अनुमान जताया है। मौसम विभाग ने बताया कि गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, नयागढ़, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में गुरुवार तक भारी से बहुत भारी बारिश होने की आशंका है।

रेड अलर्टःतितली तूफान और खतरनाक हुआ,ओडिशा के 5 जिले खाली कराने के आदेश

‘तितली’ सुबह 5:30 तक पहुंचने की आशंका
विशेष राहत आयुक्त कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि बुधवार दोपहर तक 50 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया जिनमें से ज्यादातर गंजम और पुरी जिलों से हैं। मुख्य सचिव एपी पाधी ने बताया कि यहां चक्रवात ‘तितली’ के गुरुवार को करीब साढ़े पांच बजे सुबह पहुंचने की आशंका है। उन्होंने कहा कि चक्रवात पहुंचने के दौरान समुद्र में करीब एक मीटर ऊंची लहरें उठने के मौसम विभाग के अनुमान के मद्देनजर तुरंत स्थान खाली कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई।

जरूरत पड़ने पर सेना की मदद
मुख्य सचिव ने कहा, हमने अभी तक सेना की मदद नहीं मांगी है। अगर जरूरत पड़ी तो हम सहायता मांगेंगे। वहीं विशेष राहत आयुक्त विशुनपाड़ा सेठी ने जिलों को ज्यादा से ज्यादा लोग रखने के लिए 836 शिविरों को तैयार रखने के निर्देश दिए हैं।

केंद्र ने 1,000 एनडीआरएफ कर्मी भेजे
नई दिल्ली। केंद्र ने चक्रवात ‘तितली’ के तट की ओर बढ़ने के मद्देनजर स्थिति से निपटने के लिए बुधवार को ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के तकरीबन 1,000 कर्मी भेजे। इसके साथ ही इसने खाद्य सामग्री, ईंधन के भंडारण तथा बिजली आपूर्ति एवं दूरसंचार लाइनों को सुचारू रखने के भी निर्देश दिए। कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक में चक्रवात के मद्देनजर तैयारियों पर चर्चा की गई।

RRB: 'तितली' तूफान के कारण 11 और 12 अक्टूबर को होने वाली परीक्षा रद्द
 
आंध्र के तटवर्ती क्षेत्रों में हाई अलर्ट
चक्रवाती तूफान तितली के गुरुवार को बंगाल की खाड़ी पार करने की आशंका को देखते हुए आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय जिलों में बुधवार को हाई अलर्ट जारी किया गया। तूफान की रफ्तार 165 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ रही है और उसके कारण भारी बारिश और तबाही आने की आशंका है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) ने कहा कि चक्रवाती तूफान के चपेट में आने की आशंका के बीच मछुआरे को समुद्र में प्रवेश नहीं करने की चेतावनी दी गई है।

हवा की तीव्रता 150 किमी प्रति घंटा रहेगी
एसडीएमए ने कहा, भयंकर चक्रवाती तूफान 11 अक्तूबर को सुबह 11.30 बजे तक जारी रहेगा और हवा की तीव्रता 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी, जो 165 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाएगी। तूफान आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम के पास से गुजरेगा। दक्षिण मध्य रेलवे ने एक विज्ञप्ति में कहा कि सिकंदराबाद-हावड़ा फलकनुमा एक्सप्रेस का मार्ग बदल दिया गया है।

टोल-फ्री नंबर जारी
राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने आपदा के वक्त लोगों की सहायता के लिए अपने आपातकालीन अभियान केंद्र पर टोल-फ्री टेलीफोन नंबर 18004250101 जारी किया है, जबकि तीन तटीय जिलों में नियंत्रण कक्षों को चालू कर दिया गया है।

मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड: जब्त फाइलों में CBI को मिलीं बड़ी गड़बड़ियां

जिला प्रशासनों को हाई अलर्ट पर रखा
आंध्र प्रदेश के आपदा आयुक्त एम सेशगिरी बाबू ने कहा, हमने संबंधित जिला प्रशासनों को हाई अलर्ट पर रखा है। बेहद खतरनाक चक्रवाती तूफान को देखते हुए लोगों को सुरक्षित रहने और ज्यादातर समय घर के भीतर रहने के लिए परामर्श जारी किया गया है।
 
हर्षवर्धन ने हालात से निपटने के उपायों की समीक्षा की
केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने ओडिशा के तटीय इलाकों में चक्रवाती तूफान ‘तितली’ से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए किए गए एहतियाती उपायों की समीक्षा की। उन्होंने संबद्ध विभागीय अधिकारियों को स्थिति पर लगातार नजर रखते हुए आपसी तालमेल के साथ हरसंभव कदम उठाने का निर्देश दिया है। डॉ. हर्षवर्धन ने हालात की गंभीरता को देखते हुए सभी वरिष्ठ अधिकारियों को स्थिति पर लगातार नजर रखने को कहा है। साथ ही उन्होंने संभावित परिस्थितियों से निपटने के लिए सभी एहतियाती उपाय करते हुये केंद्र और राज्य सरकार की एजेंसियों के बीच पुख्ता संवाद कायम करने के निर्देश दिए है। मंत्रालय में भी शीर्ष स्तर पर स्थिति पर नजर रखी जा रही है। 

UP सरकार सख्त:बिल्डर्स की मनमानी पर लगेगी लगाम,10% ही होगी बुकिंग राशि

बंगाल में गंगा के किनारे वाले क्षेत्रों में भारी बारिश का अनुमान
बंगाल की खाड़ी में अत्यंत घातक चक्रवात ‘तितली’ के और मजबूत होने के साथ मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल में गंगा के किनारे वाले क्षेत्रों में शुक्रवार तक भारी से अत्यंत भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। मौसम विभाग के अनुसार, चक्रवात के प्रभाव के चलते बंगाल के पूर्वी एवं पश्चिमी मिदनापुर के तटीय एवं जमीनी क्षेत्रों, झाड़ग्राम, दक्षिणी एवं उत्तरी 24 परगना जिलों में बुधवार की शाम से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। विभाग ने कहा कि दीघा, शंकरपुर, मंदरमणि और राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में पर्यटकों से कहा गया है कि वे इस दौरान गहरे समुद्र में नहीं जाएं।

मौसम अधिकारियों ने मछुआरों से कहा है कि वे पश्चिम बंगाल, ओडिशा के अपतटीय क्षेत्रों, बंगाल की उत्तरी और मध्य खाड़ी में 12 अक्तूबर तक समुद्र में न जाएं। भारतीय रेलवे ने मौसम पूर्वानुमान के बाद ओडिशा में खुर्दा रोड और विजियानगरम के बीच बुधवार को रात 10 बजे के बाद से अगले परामर्श तक ट्रेन सेवा स्थगित रखने का फैसला किया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:More than 3 lakh evacuated as very severe cyclone Titli nears Odisha