DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलवामा ब्लास्ट: पढ़ें जम्मू-कश्मीर में ARMY पर हुए 21 बड़े आतंकी हमले

A CRPF convoy was attacked by militants in Jammu and Kashmir’s Pulwama district on Jammu-Srinagar hi

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर गुरुवार को आतंवादियों ने आईईडी विस्फोट करते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के वाहन पर गोलियां बरसाईं। इस आतंकवादी घटना में सीआरपीएफ के कम से कम 12 जवान शहीद हुए हैं। पुलिस सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी। श्रीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर लेथपोरा में यह आतंकवादी हमला हुआ। सूत्रों ने कहा कि शहीद जवानों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि कुछ घायल जवानों की हालत बहुत गंभीर है। जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) आतंकी समूह ने घटना की जिम्मेदारी ली है।

जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमला, IED ब्लास्ट में CRPF के 18 जवान शहीद

जम्मू-कश्मीर में 1999 से अब तक हुए बड़े हमले इस प्रकार से रहे- 

1) 18 सिंतबर 2016: उरी में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने एक सेना के मुख्यालय पर हमला किया, जिसमें 18 जवान शहीद हो गए और 30 अन्य घायल हुए। इसके साथ सेना ने चार आतंकवादियों को मार गिराया। 

2) 25 जून, 2016: श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर श्रीनगर में पंपोर के निकट फ्रेस्टबल में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकियों के हमले में आठ सीआरपीएफ कर्मी मारे गए और 20 अन्य घायल हो गए।

3) 21 फरवरी, 2016: श्रीनगर के आंचलिक इलाके में एक सरकारी भवन के भीतर छिपे आतंकियों के एक समूह के साथ भारी गोलीबारी में एक आतंकी और दो कैप्टन समेत सेना के तीन कमांडो मारे गए। इससे एक दिन पहले शुरू हुई इस मुठभेड़ में मृतकों की संख्या सात पहुंच गई।

4) 3 जनवरी, 2016: पठानकोट एयरबेस उत्तर भारत के सबसे बड़े एयरबेस में से एक है और भारतीय सेना दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी सेना मानी जाती है। इस बेस पर 3 जनवरी की रात आतंकवादियों ने हमला कर दिया। इस हमले में 7 जवानों की मौत हुई थी जबकि 20 से ज्यादा घायल हुए थे।

5) 7 दिसंबर, 2015: दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में बिजबेहरा के सामथन में ग्रीन टनल के निकट सीआरपीएफ कर्मियों के काफिले पर गोलीबारी में छह सीआरपीएफ कर्मी घायल हो गए।

6) 25 नवंबर, 2015: उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में तंगधर में नियंत्रण रेखा के निकट सेना के एक शिविर पर आतंकियों के एक समूह के हमले के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकी और एमईएस का एक जेनरेटर आपरेटर मारा गया।

7) 18 नवंबर, 2015: कुपवाड़ा के जंगलों में आतंकियों के साथ एक मुठभेड़ में सेना की पैरा कमांडो यूनिट का एक कर्नल मारा गया।

8) 31 मई, 2015: कुपवाड़ा जिले के तंगधर सेक्टर में सेना ने अपने ब्रिगेड मुख्यालय पर हमले को विफल किया। इस कार्रवाई में छह भारी हथियार बंद आतंकियों के चार सदस्य मारे गए।

9) 21 मार्च, 2015: सांबा जिले में जम्मू-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर सेना के शिविर पर फिदायीन हमले के दौरान दो आतंकी मारे गए। इस हमले के दौरान एक नागरिक, एक मेजर और एक जवान सहित तीन लोग घायल हुए।

10) 20 मार्च, 2015: सेना की वर्दी में आतंकियों के एक फिदायीन दस्ते ने कठुआ जिले में एक पुलिस थाने पर हमला किया जिसमें तीन एसएफ कर्मी, दो नागरिक और दो आतंकी समेत सात लोग मारे गए, जबकि सीआरपीएफ के आठ कर्मी, तीन पुलिसकर्मी और एक नागरिक घायल हुआ।

11) 5 दिसंबर, 2014: नियंत्रण रेखा के निकट बारामुला जिले के उरी सेक्टर में मोहरा में सेना के 31 फील्ड रेजिमेंट आयुद्ध शिविर पर भारी हथियारबंद आतंकियों के एक समूह ने हमला किया जिसमें एक लेफ्टिनेंट कर्नल और सात जवान, जम्मू कश्मीर पुलिस का एक एएसआई और दो कांस्टेबल मारे गए। इस आपरेशन में छह आतंकी भी मारे गए।

12) 27 नवंबर, 2014: जम्मू कश्मीर की अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे अर्निया सेक्टर में सीमावर्ती गांव कठार में दिनभर चली मुठभेड़ में चार नागरिकों, तीन सैन्यकर्मियों और तीन आतंकियों समेत 10 लोग मारे गए।

13) 26 सितंबर, 2013: जम्मू कश्मीर पर दो आत्मघाती हमलों में कम से कम 13 लोग मारे गए। इसमें तीन आतंकियों के अलावा कुल 10 लोग मारे गए। कठुआ जिले में हुए एक हमले में मारे गए लोगों में चार पुलिसकर्मी और दो नागरिक शामिल थे, जबकि सांबा जिले में हुए हमले में लेफ्टिनेंट कर्नल बिक्रमजीत सिंह सहित चार सैन्यकर्मी मारे गए।

14) 24 जून, 2013: श्रीनगर के हैदरपुरा में सेना के काफिले पर हमले में आठ जवान मारे गए।

15) 31 मार्च, 2013: श्रीनगर में सीआरपीएफ के शिविर पर हमले में पांच लोग मारे गए।

16) पांच अक्तूबर, 2006: श्रीनगर के मध्य में बादशाह चौक पर आतंकियों के हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस के पांच कर्मी, सीआरपीएफ के दो जवान और एक नागरिक की मौत हो गई।

17) छह अप्रैल, 2005: श्रीनगर से पाक अधिकृत कश्मीर में मुजफ्फराबाद के लिए बस शुरू करने से एक दिन पहले दो आत्मघाती आतंकियों ने पर्यटक स्वागत केंद्र पर हमला किया।

18) 22 जुलाई, 2003: अखनूर में तीन सदस्यीय टीम ने सेना के एक शिविर पर हमला कर एक ब्रिगेडियर सहित आठ सुरक्षाकर्मियों को मार दिया और 12 अन्य लोगों को घायल कर दिया।

19) 14 मई, 2002: जम्मू के कालूचक में सेना की एक छावनी पर हुए फिदायीन हमने में 36 लोग मारे गए और 48 अन्य घायल हुए। मारे गए ज्यादातर लोग परिजन थे।

20) 3 नवंबर, 1999: श्रीनगर के बादामी बाग में 15 कोर पर हुए फिदायीन हमले में दस सैनिक कर्मी मारे गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:more than 17 CRPF personnel killed as explosives laden vehicle rams into bus in JK JeM claims responsibility