DA Image
15 अगस्त, 2020|1:14|IST

अगली स्टोरी

बंगाल की खाड़ी में धीमी रफ्तार से बढ़ रहा मानसून, जानें- कब उत्तर भारत पहुंचेगा

 मौसम विभाग ने मानसून के 29 मई को केरल पहुंचने का पूर्वानुमान जारी किया है

बंगाल की खाड़ी में मानसून सक्रिय तो हो गया है लेकिन इसकी रफ्तार धीमी है। मानसून अपेक्षाकृत धीमी रफ्तार से केरल की तरफ बढ़ रहा है। जबकि मौसम विभाग ने समय से तीन दिन पहले मानसून के केरल पहुंचने की भविष्यवाणी कर रखी है। विभाग का कहना है कि अगले एक-दो दिनों के भीतर मानसून तेजी से आगे बढ़ेगा।

मई के तीसरे सप्ताह में मानसून बंगाल की खाड़ी में सक्रिय होता है। लेकिन इस बार यह कुछ देरी से सक्रिय हुआ। मानसून के श्रीलंका पहुंचने की सामान्य तिथि 25 मई है। लेकिन इस बार यह दो दिन की देरी के साथ 27 मई को श्रीलंका पहुंचा है। इसलिए मानसून की रफ्तार को धीमा माना जा रहा है। मौसम विभाग ने मानसून के 29 मई को केरल पहुंचने का पूर्वानुमान जारी किया है जबकि सामान्य तिथि एक जून है। 

आफत! उत्तर प्रदेश में गर्मी का कहर, टूटा 10 साल का रिकॉर्ड

मौसम विभाग के महानिदेशक के. जे. रमेश ने कहा कि मानसून देरी से सक्रिय हुआ है लेकिन इससे जरूरी नहीं है कि वह केरल देर से पहुंचे। अगले एक-दो दिनों में मानसून की रफ्तार में तेजी की उम्मीद है। इससे यह 29 मई तक केरल पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि अगला एक सप्ताह मानसून के लिए उपयुक्त मौसम बन रहा है। एक सप्ताह के भीतर मानसून पूर्वोत्तर राज्यों तक दस्तक दे देगा। 

दिल्ली में शनिवार का दिन रहा सबसे गर्म, पारा 45 डिग्री पहुंचा

उत्तर भारत में मानसून के पहुंचने में अभी करीब एक महीना है। लेकिन यदि केरल में मानसून समय से पूर्व पहुंचता है और उसकी रफ्तार आगे भी बनी रहती है तो फिर उत्तर भारत में भी इसके समय पूर्व दस्तक देने के आसार बन सकते हैं। लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि जब तक केरल में मानसून सक्रिय नहीं हो जाता है तब तक उत्तर भारत की स्थिति को लेकर दावा नहीं किया जा सकता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:monsoon will enter Kerala on 29 may -Meteorological Department