DA Image
24 सितम्बर, 2020|2:59|IST

अगली स्टोरी

मोहन भागवत ने पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर जताया शोक, बोले- सभी को अपना बनाना उनका स्वभाव था

rss chief mohan bhagwat  file pic

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने मंगलवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने एक शून्य छोड़ दिया है और हमेशा याद किया जाएगा। भागवत ने आगे कहा कि "राजनीतिक मतभेदों के बावजूद, सभी को अपना बनाना उनका स्वभाव था।"

उन्होंने कहा कि प्रणब मुखर्जी ने एक शून्य छोड़ दिया है। वह उदार और दयालु थे, जो मुझे भूला देते थे कि मैं भारत के राष्ट्रपति से बात कर रहा हूं। राजनीतिक मतभेदों के बावजूद, हर किसी को अपना बनाना उनकी प्रकृति में था। 

भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का सोमवार की शाम निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। प्रणब मुखर्जी को पिछले 10 अगस्त को सेना के ‘रिसर्च एंड रेफ्रल हास्पिटल’ में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। उसके बाद वह काफी दिनों तक सेना के अस्पताल में कोमा में थे।  मुखर्जी को बाद में फेफड़ों में संक्रमण हो गया। वह 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति थे। आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर सोमवार को सात दिन के राजकीय शोक की घोषणा की। 

इस बीच, पूर्व राष्ट्रपति को उनके राजाजी मार्ग पर अंतिम सम्मान दिया जा रहा है। उन्हें 10 अगस्त को दिल्ली के सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्होंने सीओवीआईडी ​​-19 पॉजिटिव पाया गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mohan Bhagwat expressed grief over the demise of the former president said it was his nature to make everyone his own