Mohan Bhagwat Address Nation After Ayodhya Supreme Court Verdict - अयोध्या पर फैसले के बाद राष्ट्र को संबोधित करेंगे संघ प्रमुख भागवत DA Image
17 नबम्बर, 2019|5:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अयोध्या पर फैसले के बाद राष्ट्र को संबोधित करेंगे संघ प्रमुख भागवत

rss chief mohan bhagwat speaks during the vijayadashmi utsav 2019 at rss headquarter in nagpur  on t

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के बहुप्रतीक्षित फैसले के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत आज दोपहर 1 बजे दिल्ली में झंडेवालान स्थित केशवकुंज परिसर में मीडिया के माध्यम से राष्ट्र को संबोधित करेंगे। आरएसएस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से यह जानकारी दी गई है।

अयोध्या मामले में लाइव अपडेट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के आने वाले फैसले को लेकर पिछले दस दिनों से संघ के शीर्ष नेताओं ने दिल्ली के उदासीन आश्रम में डेरा डाल रखा है। यहीं से संघ के शीर्ष नेतृत्व की ओर से देश में सांप्रदायिक सौहार्द्र बनाए रखने के लिए जगह-जगह समन्वय बैठकों का निदेर्शन चल रहा है। संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल लगातार मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ समन्वय बैठक कर रहे हैं।

अयोध्या पर इस फैसले को लेकर संघ के स्वयंसेवकों ने देश भर में मोर्चा संभाल रखा है। जगह-जगह शांति और समन्वय समिति की बैठकें की जा रहीं हैं। मुस्लिम संगठनों के साथ भी संघ से जुड़े संगठनों के पदाधिकारी बैठकें कर सौहार्द्रपूर्ण वातावरण बनाने मे जुटे हैं।

अयोध्या पर फैसले से पहले उद्धव ठाकरे का केंद्र सरकार पर हमला, जानें क्या कहा

रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद मामले में फैसला आज
वहीं दूसरी ओर, राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में शनिवार सुबह उच्चतम न्यायालय का फैसला आने से पहले देश भर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विभिन्न धर्म गुरुओं ने लोगों से शांति बनाए रखने तथा न्यायालय के फैसले का सम्मान करने की अपील की है। दिल्ली में फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ के पांचों न्यायाधीशों के आवास के बाहर शुक्रवार (8 नवंबर) से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस संवेदनशील मामले में फैसला शनिवार (9 नवंबर) सुबह साढ़े दस बजे सुनाया जाएगा।

पीएम मोदी ने की शांति बनाए रखने की अपील
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर की देर शाम कहा कि अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय का जो भी फैसला आएगा, वह किसी की हार-जीत नहीं होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार रात सिलसिलेवार ट्वीट कर यह अपील की। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, "देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों ने, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं। कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है।"

अयोध्या छावनी में तब्दील
रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद मामले में उच्चतम न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले से पहले अयोध्या छावनी में तब्ब्दील हो गयी है। जमीन से आसमान तक पुलिस निगरानी की व्यवस्था की गयी है। शहर के हर चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। आसमान से ड्रोन कैमरे चप्पे-चप्पे पर नजर रखे हुए हैं। अयोध्या की सुरक्षा के प्रभारी एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडेय ने 'भाषा' को फोन पर विशेष बातचीत में बताया, ''अयोध्या में सुरक्षा के लिये 60 कंपनी पीएसी और अर्धसैनिक बल तैनात किए गये हैं। इसमें 15 कंपनी पीएसी, 15 कंपनी सीआरपीएफ और 10 कंपनी आरएएफ हाल में अयोध्या आयी है जबकि 20 कंपनी पीएसी पहले से ही यहां तैनात थी। इसके अलावा दूसरे जनपदों से आये सुरक्षाकर्मियों में 1500 सिपाही, 250 सब इंस्पेक्टर, 150 इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी, 11 एडिशनल एसपी तथा दो एसपी तैनात किये गये हैं। इसके अलावा अयोध्या के विभिन्न थानों में तैनात सुरक्षा बल तो पहले से ही यहां पर है।"

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mohan Bhagwat Address Nation After Ayodhya Supreme Court Verdict