ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशमोदी सरकार 3.0 का एजेंडा सेट, शपथ लेने वाले संभावित मंत्रियों संग PM ने की लंबी मीटिंग

मोदी सरकार 3.0 का एजेंडा सेट, शपथ लेने वाले संभावित मंत्रियों संग PM ने की लंबी मीटिंग

संभावित मंत्रियों के साथ बैठक करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 100 दिनों के एजेंडे पर भी चार्चा की। पीएम मोदी ने बैठक में कहा कि 2047 तक भारत को विकसित भारत बनाना है।

मोदी सरकार 3.0 का एजेंडा सेट, शपथ लेने वाले संभावित मंत्रियों संग PM ने की लंबी मीटिंग
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 09 Jun 2024 04:13 PM
ऐप पर पढ़ें

Modi Cabinet 3.0: नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ आज शाम को लेंगे। शाम सवा सात बजे होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में अमित शाह, राजनाथ सिंह समेत 40 से ज्यादा नेता मंत्री पद की शपथ लेंगे। मोदी 3.0 कैबिनेट का हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, शिवराज सिंह चौहान, बंदी संजय, रवनीत सिंह बिट्टू जैसे नए चेहरे भी हिस्सा हो सकते हैं। शपथ लेने से पहले पीएम मोदी ने रविवार दोपहर को प्रधानमंत्री आवास पर संभावित नए मंत्रियों के साथ अहम बैठक की और अगली सरकार एजेंडा सेट कर दिया। सूत्रों के अनुसार, पीएम आवास पर चाय के लिए बुलाए गए वही नेता थे, जोकि आज मंत्री बनने वाले हैं। लगभग एक घंटे तक चली बैठक में पीएम मोदी ने सभी संभावित मंत्रियों को संबोधित किया। सूत्रों के अनुसार, कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के साथ बैठक करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 100 दिनों के एजेंडे पर भी चार्चा की। पीएम मोदी ने बैठक में कहा कि 2047 तक भारत को विकसित भारत बनाना है।

सूत्रों का कहना है कि अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, अश्विनी वैष्णव, निर्मला सीतारमण और मनसुख मंडाविया जैसे वरिष्ठ पार्टी नेताओं को नई सरकार में शामिल किया जाना तय माना जा रहा है। सूत्रों ने कहा कि शिवसेना के प्रतापराव जाधव, भाजपा के सीआर पाटिल, जो इसके गुजरात इकाई के अध्यक्ष हैं, ज्योतिरादित्य सिंधिया, राव इंद्रजीत सिंह, नित्यानंद राय, भागीरथ चौधरी और हर्ष मल्होत्रा ​​​​को भी मंत्री बनाया जा सकता है। एक सूत्र ने कहा कि निवर्तमान वित्त मंत्री सीतारमण, सर्बानंद सोनोवाल और किरेन रिजिजू, दोनों निवर्तमान मंत्री भी शपथ लेंगे। बीजेपी के भीतर यह भी अटकलें हैं कि इसके राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा, जिनका विस्तारित कार्यकाल इस महीने के अंत तक समाप्त हो रहा है और जो मोदी से मिलने वाले नेताओं में से थे, को भी सरकार में वापस लाया जा सकता है। 

टीडीपी के राम मोहन नायडू और चंद्रशेखर पेम्मासानी और जेडी (यू) के ललन सिंह और राम नाथ ठाकुर के अलावा चिराग पासवान, जीतन राम मांझी, एचडी कुमारस्वामी और जयंत चौधरी जैसे सहयोगियों को मंत्री बनाया जा सकता है। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते बिट्टू लोकसभा चुनाव हार गए थे, लेकिन पंजाब में अपनी पैठ मजबूत करने की कोशिश में उन्हें उनकी प्रोफाइल के कारण शामिल किया जा सकता है। तेलंगाना से चुने गए बंडी संजय कुमार और जी किशन रेड्डी को मोदी के आवास के लिए एक साथ जाते देखा गया और उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि उन्हें मंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि, संभावित मंत्रियों पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है। अपने मंत्रियों के चयन के दौरान, माना जा रहा है कि अपनी जमीन वापस पाने के लिए उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में अपनी चौंकाने वाली हार को भी बीजेपी ध्यान में रख रही है।