DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेट्रो ने मुफ्त सफर पर आठ माह का वक्त मांगा, DMRC ने दो प्रस्ताव सरकार के सामने रखे

arvind kejriwal delhi metro delhi

मेट्रो, बस में मुफ्त सफर की योजना की घोषणा के बाद बुधवार को दिल्ली सरकार पहली बार इसे लागू करने का प्रस्ताव लेकर सामने आई। डीएमआरसी ने सरकार के सामने इस व्यवस्था को लागू करने के लिए दो प्रस्ताव रखे हैं। इसे अस्थायी रूप से लागू करने के लिए गुलाबी टोकन व्यवस्था के जरिए आठ माह और लंबे समय के लिए लागू करने के लिए 12 माह का समय मांगा है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को प्रेस काफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। डीएमआरसी ने बताया कि इस पूरी योजना पर सालाना 1566 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि डीएमआरसी ने दिल्ली सरकार की योजना पर प्रस्ताव तैयार कर लिया है। इसे लागू करने के लिए दो प्रस्ताव दिए हैं। पहला जो कि शार्ट टर्म प्लान है, जो कि आठ माह में लागू होगा। दूसरा लांग टर्म है, जिसमें सॉफ्टवेयर में बदलाव करना होगा। इसमें 12 माह का समय लगेगा।

डीएमआरसी ने इस योजना को लागू करने के लिए किराया निर्धारण समिति (एफएफसी) से मंजूरी लेना अनिवार्य बताया है। हालांकि मुझे नहीं लगता की इसकी जरूरत है। मगर जरूरत पड़ी तो हम वह लेकर आएंगे। केजरीवाल ने बताया कि डीएमआरसी ने उम्मीद जताई है कि इस योजना के लागू होने से महिला यात्रियों की संख्या में 15 से 20 फीसदी का इजाफा होगा। इससे साफ है कि मेट्रो इस योजना को सकारात्मक तरीके से देख रही है। उन्होंने आठ माह के समय को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि इतना समय क्यों चाहिए यह मेरे समझ से परे है। इसे लेकर डीएमआरसी अधिकारियों से टाइमलाइन के हिसाब से ब्रेकअप मांगा जाएगा।

इधर, डीटीसी ने भी महिलाओं को मुफ्त सफर कराने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। इसके लिए फिलहाल टिकट जारी करने वाली इलेक्ट्रॉनिक टिकटिंग मशीन (ईटीएम) के सॉफ्टवेयर में बदलाव करने का प्रस्ताव है। उसमें महिलाओं के लिए टिकट का एक अलग से विकल्प जोड़ा जाएगा। उसके लिए महिलाओं को कोई शुल्क नहीं देना होगा।

ये हैं दो प्रस्ताव
1. गुलाबी टोकन, अलग इंट्री गेट बनाया जाएगा: डीएमआरसी ने जो पहला प्लान दिया है उसे आठ माह में लागू किया जा सकता है। उसमें सिर्फ टोकन जो कि गुलाबी होगा उसका प्रयोग होगा। महिलाओं के लिए अलग से काउंटर, आटोमैटिक फेयर कलेक्शऩ गेट होंगे। उन्हें गंतव्य बताना होगा तो उन्हें टोकन मिलेगा। प्रवेश के लिए महिलाओं का अलग गेट होगा मगर निकास वह किसी भी गेट से कर पाएंगी।

2. सॉफ्टवेयर में बदलाव टोकन के साथ स्मार्ट कार्ड: डीएमआरसी ने सरकार को जो दूसरा प्रस्ताव दिया है उसमें डीएमआरसी को कुल 12 माह का समय लगेगा। इसके लिए सरकार को साफ्टवेयर में बदलाव करना होगा। उसके बाद टोकन के अलावा महिला यात्री स्मार्ट कार्ड से भी सफर कर पाएंगी। हालांकि साफ्टवेयर बदलाव करने से पहले मेट्रो सरकार से भरोसा चाहती है कि वह इस योजना को बंद नहीं करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Metro Seek 8 Months For Free Journey DMRC Give Two proposal To Delhi Govt