Mehul Choksi case: Union of India today mentioned the matter before Supreme Court for an urgent hearing against a Bombay High Court order - मेहुल चौकसी को लेकर HC के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा केंद्र DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेहुल चौकसी को लेकर HC के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचा केंद्र

Mehul Chowksi

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में करोड़ों रुपये के घोटाले के मुख्य फरार आरोपी हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के मामले को लेकर केन्द्र सरकार और प्रवर्तन निदेशालय (ED) सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। ईडी और केन्द्र सरकार ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है। आपको बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने चौकसी के स्वास्थ्य संबंधी दस्तावेज़ मांगे हैं कि क्या वह भारत यात्रा कर सकता है या नहीं।

सुप्रीम कोर्ट में केन्द्र सरकार ने मेहुल चौकसी के यात्रा कर पाने में सक्षम होने के लिए उसकी चिकित्सीय रिपोर्ट की आवश्यकता पर बंबई उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अपील दायर की है। इस याचिका में कहा जा रहा है कि हाईकोर्ट के फैसले से चौकरी के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया पर असर पड़ेगा।

गौरतलब है कि मेहुल चोकसी ने बंबई हाईकोर्ट में दाखिल हलफनामे में कहा था कि उसने मामले के अभियोजन से बचने के लिए नहीं बल्कि अपने इलाज के लिए देश छोड़ा था। फरार हीरा कारोबारी चोकसी अभी कैरेबियाई देश एंटीगुआ में रह रहा है।

चोकसी ने अपने वकील विजय अग्रवाल के जरिए दाखिल हलफनामा दायर कर कहा कि उसने विदेशों में मेडिकल जांच और उपचार के लिए जनवरी 2018 में देश छोड़ा था। हलफनामे में कहा गया था कि मैंने संदिग्ध हालात में देश नहीं छोड़ा था। चोकसी ने अदालत में उसके द्वारा दायर दो याचिकाओं के संबंध में हलफनामा दायर किया था। उन याचिकाओं में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा एक विशेष अदालत में दायर एक आवेदन को रद्द करने का अनुरोध किया था। चोकसी ने अपनी याचिका में कहा है कि वह स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण भारत लौटने में असमर्थ है। 

ईडी के आवेदन में चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने का अनुरोध किया गया है। चोकसी और उसका भतीजा नीरव मोदी दोनों पीएनबी के साथ 13,400 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी मामले में ईडी और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के वांछित हैं। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mehul Choksi case: Union of India today mentioned the matter before Supreme Court for an urgent hearing against a Bombay High Court order