DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सारदा चिटफंड घोटाला: CBI ऑफिस पहुंचे पूर्व TMC सांसद कुणाल घोष, राजीव कुमार से हो सकता है आमना-सामना

Former Trinamool Congress (TMC) MP Kunal Ghosh

सारदा चिटफंड घोटाले (Saradha Chit Fund Scam) की जांच कर रही सीबीआई (CBI) के सम्मुख रविवार को पूर्व तृणमूल कांग्रेस (TMC) के राज्यसभा सदस्य कुणाल घोष (Kunal Ghosh) भी पेश हुए। शिलॉन्ग के सीबीआई ऑफिस पहुंचने पर घोष ने कहा कि सीबीआई ने मुझसे इस मामले में पूछताछ के लिए ऑफिस आने को कहा था इसलिए मैं यहां हूं। मैं जांच एजेंसी को जांच में सहयोग करने वाला हूं। वहीं सीबीआई की टीम ने शनिवार को कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से कुल आठ घंटे पूछताछ की। बताया जा रहा है कि आईपीएस राजीव कुमार ने पहले तो पूछताछ में असहयोग किया लेकिन बाद में उन्होंने सवालों के जवाब दिए।

ममता पर PM का हमला, 'धोखेबाजों के संरक्षकों को नहीं छोड़ेंगे'

सीबीआई कुणाल घोष और राजीव कुमार का आमना-सामना भी कराए
दो दिन पहले सीबीआई ने तृणमूल के पूर्व राज्यसभा सांसद कुणाल घोष को सम्मन जारी कर दस फरवरी को शिलांग के सीबीआई ऑफिस में हाजिर होने का आदेश दिया था। कुणाल घोष तृणमूल कांग्रेस से लोकसभा के भी सदस्य रह चुके हैं। वे सारदा चिटफंड घोटाले में आरोपी हैं। तृणमूल कांग्रेस से निलंबित सांसद कुणाल घोष ने कुछ दिन पहले कहा था कि पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने सबूत मिटाने के प्रयास किए। उनका इशारा कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार की तरफ था। हो सकता है सीबीआई कुणाल घोष और राजीव कुमार का आमना-सामना भी कराए। 

ममता के साथी पुलिस अफसरों को गंवाना पड़ सकता है मेडल

गौरतलब है कि शिलॉन्ग स्थित सीबीआई कार्यालय में शनिवार को सुबह 11 बजे पूछताछ शुरू हुई। करीब आठ घंटे चली पूछताछ के बाद वे सीबीआई दफ्तर से चले गए। जांच एजेंसी ने रविवार को फिर उन्हें बुलाया है। जांच एजेंसी की 12 सदस्यों की टीम उनसे पूछताछ कर रही थी। कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार, उनके वकील विश्वजीत देब और वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी जावेद शमीम और मुरलीधर शर्मा सुबह 11 बजे जांच एजेंसी के कार्यालय पहुंचे। यहां सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए थे।

केंद्र ने कहा- CBI को रोक नहीं सकते, 10 अधिकारी रहेंगे तैनात

उन्होंने बताया कि कुमार के वकील और दो आईपीएस अधिकारियों को 30 मिनट के अंदर ही सीबीआई कार्यालय से बाहर जाने को कह दिया गया। इससे पहले आईपीएस राजीव कुमार शुक्रवार की शाम को शिलांग पहुंचे और एक हेरिटेज होटल में ठहरे। वे सुबह 10:30 बजे अपने वकील के साथ आकलैंड स्थित सीबीआई दफ्तर पहुंचे। हां सीबीआई के तीन वरिष्ठ अधिकारी दिल्ली से शुक्रवार को ही पहुंच गए थे। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कोलकाता पुलिस प्रमुख को सीबीआई के समक्ष पेश होने और सारदा चिट फंड घोटाले से उपजे मामलों की जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया था। साथ ही, न्यायालय ने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाए।

सीबीआई ने शीर्ष न्यायालय में आरोप लगाया था कि सारदा चिट फंड घोटाले की जांच में एसआईटी का नेतृत्व करने वाले कुमार ने इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों से छेड़छाड़ की और सीबीआई को जो दस्तावेज सौंपे, उनमें से कुछ में बदलाव किए हुए थे। सीबीआई के अधिकारी पूछताछ करने के लिए तीन फरवरी को कोलकाता में कुमार के आवास पर गए थे लेकिन पुलिस ने उनकी कोशिश नाकाम कर दी। सीबीआई की कार्रवाई का विरोध करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तीन दिन तक धरना दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Meghalaya: Former TMC MP Kunal Ghosh in CBI office in Shillong in Saradha Chit Fund Scam