DA Image
27 जनवरी, 2020|6:35|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्भया कांड के दोषियों को मेरठ का पवन जल्लाद देगा फांसी, आया फोन

meerut jallad will be hanged to the culprits of nirbhaya case call received

निर्भया सामूहिक बलात्कार व हत्या मामले में तिहाड़ जेल में बंद चारों आरोपियों को 16 दिसम्बर के बाद फांसी दिये जाने की संभावना जताई जा रही है। दोषियों को सूली पर लटकाने के लिए मेरठ के पवन जल्लाद के पास फोन भी आ गया है। कारागार महानिदेशक आनंद कुमार ने की तिहाड़ का पत्र मिलने की पुष्टि की है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में सिर्फ दो जल्लाद है, लखनऊ के इलियास जल्लाद की है तबियत खराब है।

इधर दिल्ली की मंडोली जेल में रखे गये दिसंबर 2012 के निर्भया सामूहिक बलात्कार-हत्याकांड के एक दोषी को तिहाड़ जेल में स्थानांतरित किया गया है। महानिदेशक (जेल) संदीप गोयल ने बताया कि मंडोली जेल में रखे गये पवन कुमार गुप्ता को हाल ही में तिहाड़ जेल स्थानांतरित किया गया।
     
एक अन्य जेल अधिकारी ने बताया कि गुप्ता तिहाड़ की जेल नंबर 2 में है जहां इस कांड के अन्य दोषियों मुकेश सिंह और अक्षय को भी रखा गया है। चौथा दोषी विनय शर्मा तिहाड़ की जेल नंबर चार में है। निर्भया 23 वर्षीय उस फिजियोथेरेपी इंटर्न का काल्पनिक नाम है जिससे 16 दिसंबर, 2012 को दक्षिण दिल्ली में चलती बस में चालक समेत छह व्यक्तियों ने सामूहिक बलात्कार किया था और उसपर बर्बर हमला किया गया था, जिसके कारण बाद में उसकी मौत हो गई थी। 

इस मामले में एक किशोर समेत सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें बलात्कार एवं हत्या का आरोपी बनाया गया। उनमें से एक आरोपी रामसिंह ने पुलिस हिरासत में आत्महत्या कर ली। बाकी की त्वरित अदालत में सुनवाई हुई। इस मामले में किशोर को दोषी ठहराया गया और उसे सुधार गृह में तीन साल के लिए भेजा गया। 

शेष चार बालिग आरोपियों को 10 सितंबर, 2013 को बलात्कार एवं हत्या का दोषी पाया गया और तीन बाद उन्हें मृत्युदंड सुनाया गया। दिल्ली उच्च न्यायालय ने 13 मार्च, 2014 को इन गुनहगारों की दोषसिद्धि को बरकरार रखा और उनकी मौत की सजा पर मुहर लगा दी। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:meerut jallad will be hanged to the culprits of Nirbhaya case call received