DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › नहीं थम रहीं अफवाहें: झारखंड में पिता को ही बच्चा चोर समझ भीड़ ने पीटा
देश

नहीं थम रहीं अफवाहें: झारखंड में पिता को ही बच्चा चोर समझ भीड़ ने पीटा

जामताड़ा। प्रतिनिधिPublished By: Madan
Thu, 05 Sep 2019 07:55 PM
नहीं थम रहीं अफवाहें: झारखंड में पिता को ही बच्चा चोर समझ भीड़ ने पीटा

बच्चा चोरी की अफवाहों ने गुरुवार को झारखंड के जामताड़ा में अजब-गजब स्थिति पैदा कर दी। भीड़ ने बिना कुछ सोचे-समझे अपने बच्चे को लेकर जा रहे पिता को ही बच्चा चोर बताकर पीटना शुरू कर दिया। पुलिस ने जब पिटते हुए व्यक्ति को बचाया तो पता चला कि वह चोर नहीं बल्कि उस बच्चे का पिता है।

भीड़ हिंसा का शिकार बना व्यक्ति बिंदापाथर थाना क्षेत्र के गेड़िया गांव का रहने वाला पिंटूलाल बर्मन है। वह जामताड़ा के एक होटल में काम करता है। उसकी पत्नी की तबीयत खराब चल रही है। इस कारण अपने बेटे-बेटी को धनबाद में भैया-भाभी के घर छोड़ने जा रहा था। गुरुवार को सुबह साढ़े आठ बजे गेड़िया से बस से जामताड़ा पहुंचा। बस स्टैंड से ट्रेन पकड़ने के लिए रेलवे स्टेशन की ओर जा रहा था, तभी भीड़ हिंसा का शिकार बन गया।

शर्मनाक: बच्चा चोरी के शक में 2 महिलाओं सहित चार को भीड़ ने पीटा

क्यों फैली अफवाह

बताया जाता है कि उसका बेटा छोटू चिप्स खरीदने की जिद करने लगा। पिता ने इनकार कर दिया। इस कारण वह रोने लगा और अपनी मां के पास जाने की जिद करते हुए पिता से हाथ छुड़ाने की कोशिश करने लगा। यह वहां मौजूद लोगों ने देखा तो बच्चा चोरी के संदेह में उसे रोक लिया। देखते ही देखते बच्चा चोरी का हल्ला हो गया। वहां भीड़ जमा हो गई और बिना कुछ सोचे-समझे ही पिंटू की पिटाई शुरू कर दी।

पुलिस ने पिंटू को भीड़ से बचाया

सूचना पर पहुंची पुलिस ने बामुश्किल पिंटू बर्मन और उसके बेटा-बेटी को भीड़ के बीच से निकाला। थाने ले जाकर पूछताछ हुई तो पता चला कि दोनों बच्चे उसके ही हैं।  थाना प्रभारी मनोज कुमार ने कहा कि बच्चा चोर की अफवाह में पीटे गए पिंटूलाल बर्मन को पुलिस ने जांच-पड़ताल के बाद छोड़ दिया। उसे इतनी चोट नहीं थी कि अस्पताल भेजा जाता।

ये भी पढ़ें: बच्चे का अपहरण कर 20 हजार रुपये में बेचा, अपहर्ता गिरफ्तार

संबंधित खबरें