DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुछ लालची नेताओं के चलते लोग तृणमूल का साथ न छोड़ें: ममता

ममता बनर्जी
तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने यह स्वीकार करते हुए कि पार्टी के कुछ स्थानीय नेता "लालची" हो सकते हैं, रविवार को लोगों से आग्रह किया कि वे उन लोगों के खिलाफ गुस्सा तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ मतदान करके नहीं निकालें। उन्होंने दावा किया कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व इस तरह के आरोपों से ऊपर है।
 
ममता ने कहा कि उनकी सरकार ने ढेर सारी योजनाओं के जरिये पिछड़े इलाके जंगलमहल के लोगों के जीवनतस्तर में सुधार लाया है।
जंगलमहल इलाका पश्चिमी मिदनापुर, पुरुलिया और बांकुड़ा जिले के जंगली इलाकों से मिलकर बना है।
 
ममता ने जंगलमहल इलाके में तीन जगहों पर रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, "मैं यह नहीं कह सकती कि मेरी पार्टी के 100 फीसदी कार्यकर्ता अच्छे हैं। हो सकता है कि दो प्रतिशत बुरे हों और हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।"
 
उन्होंने कहा कि इलाके के कुछ स्थानीय नेता लालची हो गए हैं, लेकिन उनकी पहचान कर ली गई और उन्हें बाहर निकाल दिया गया है।
ममता ने कहा कि कुछ लोगों की गलती के कारण तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर लोग भाजपा, कांग्रेस और माकपा में नहीं जाएं।
 
उन्होंने कहा, "चाहे जो हो, तृणमूल कांग्रेस ही है जो हमेशा आपके कदमों में रहेगी और आपकी हर जरूरत और समस्या में आपके साथ होगी।"

 वोटरों की भावनात्मक ब्लैकमेलिंग पर उतरा राजद : सुशील मोदी

पार्टी से बगावत कर चुनाव लड़ने वाले शकील अहमद कांग्रेस से निष्कासित

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mamta appeals do not leave Trinamool because of some greedy leaders