DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › 2024 के लिए एंटी-बीजेपी फ्रंट की तैयारी या कुछ और...ममता बनर्जी ने दिल्ली में बुलाई विपक्षी नेताओं की बड़ी बैठक
देश

2024 के लिए एंटी-बीजेपी फ्रंट की तैयारी या कुछ और...ममता बनर्जी ने दिल्ली में बुलाई विपक्षी नेताओं की बड़ी बैठक

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Priyanka
Sun, 25 Jul 2021 05:43 PM
2024 के लिए एंटी-बीजेपी फ्रंट की तैयारी या कुछ और...ममता बनर्जी ने दिल्ली में बुलाई विपक्षी नेताओं की बड़ी बैठक

बंगाल चुनाव में रिकॉर्ड जीत दर्ज करने के बाद अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली दौरे 26 से 30 जुलाई के बीच दिल्ली दौरे पर आ रही हैं। यूं तो ममता बनर्जी इस दौरान पीएम मोदी से भी मुलाकात करने वाली हैं लेकिन ठीक उसी दिन दीदी ने विपक्षी पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं के साथ भी बैठक रखी है। इस बैठक को लेकर अब एक बार फिर से यह कयासबाजी शुरू हो गई है कि क्या ममता 2024 के लिए एंटी-बीजेपी फ्रंट बनाने की तैयार में जुट गई हैं। 

टीएमसी के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, दिल्ली दौरे पर ममता बनर्जी बंगा भवन में विपक्षी पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर सकती हैं, जिसके लिए उन्होंने निमंत्रण भी भेज दिए हैं। मीटिंग फिलहाल 28 जुलाई को दोपहर तीन बजे रखी गई है। इससे पहले उसी दिन ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दोपहर में मिलेंगे। 

ममता बनर्जी ने 21 जुलाई की बैठक के दौरान एनसीपी चीफ शरद पवार और कांग्रेस नेता पी. चिंदबरम से विपक्षी नेताओं की एक बैठक आयोजित करने को लेकर कहा था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, अब टीएमसी ने ही इस बैठक के आयोजन का जिम्मा उठाया है। 

खबर के मुताबिक, 21 जुलाई की मीटिंग के बाद ही दिल्ली पहुंच चुके, तृणमूल कांग्रेस के महासचिव और ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर विपक्षी पार्टियों के एक मोर्चे में जान फूंकने में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

पार्टी के एक नेता ने बताया कि इस बैठक को लेकर सभी जरूरी तैयारियां कर ली गई हैं। 21 जुलाई को अपने संबोधन में ममता ने भी यह जिक्र किया था कि अगर कोरोना नियंत्रण में रहा तो वह ठंड के समय शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सहित विपक्ष के सभी वरिष्ठ नेताओं को ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रैली के लिए बुलाएंगी।

इससे पहले 21 जुलाई की वर्चुअल बैठक में पवार और चिदंबरम के अलावा एनसीपी की सुप्रिया सुले, कांग्रेस के दिग्विजय सिंग, सपा से राम गोपाल यादव और जया बच्चन, डीएमके से तिरुचि सिवा, टीआरएस से के केशव राव, आरजेडी से मनोज झा, शिव सेना से प्रियंका चतुर्वेदी और शिरोमणि अकाली दल से बलविंदर सिंह भुंडर शामिल हुए थे। यह संभव है कि बंगा भवन में होने वाली बैठक में ये सभी पार्टियां शामिल हों।

खबर के मुताबिक, टीएमसी के महासचिव बनाए जाने के बाद अभिषेक बनर्जी ने पार्टी में यह स्पष्ट कर दिया था कि अगली लड़ाई दिल्ली में लड़ी जाएगी।

संबंधित खबरें