DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ममता बनर्जी नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होंगी, PM को लिखा पत्र

west bengal cm mamata banerjee  pti file photo

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 15 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की बैठक में शिरकत करने से इनकार कर दिया है। उन्होंने इस बैठक को निरर्थक बताया है, क्योंकि एक संस्था के तौर पर राज्य की योजनाओं में मदद के लिए इसके पास कोई वित्तीय शक्तियां नहीं हैं। इससे पहले ममता ने मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भी शमिल होने से इनकार कर दिया था।

ममता ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखकर नीति आयोग की बैठक में शामिल होने के निर्णय की जानकारी दी थी। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में बनर्जी ने कहा है, यह तथ्य है कि नीति आयोग के पास न तो कोई वित्तीय शक्तियां हैं और न ही राज्य की योजनाओं में मदद के लिए उसके पास शक्ति है। ऐसे में किसी भी प्रकार की वित्तीय शक्तियों से वंचित ऐसी संस्था की बैठक में शामिल होना मेरे लिये निरर्थक है।

मुख्यमंत्री ने यह भी सुझाव दिया कि सहकारी संघवाद को बढ़ाने और संघीय नीति की मजबूती के लिये अंतर-राज्यीय परिषद (आईएससी) पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। उन्होंने कहा, पिछले साढ़े चार साल में नीति आयोग से प्राप्त अनुभव ने मेरे पहले के विचार को बल दिया कि हमें संविधान के अनुच्छेद-263 के तहत गठित अंतरराज्यीय परिषद पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और देश की प्रमुख इकाई के तौर पर आईएससी को अपने कार्य के निष्पादन के लिए इसमें समुचित संशोधन कर इसके कामकाज का दायरा बढ़ाना चाहिए।

गौरतलब है कि देश के विकास से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए मोदी 15 जून को नीति आयोग की संचालन परिषद की पांचवीं बैठक की अध्यक्षता करने वाले हैं। हालांकि, बनर्जी ने यह स्पष्ट नहीं किया कि उनकी कैबिनेट के अन्य मंत्री उनकी ओर से बैठक में हिस्सा लेंगे या नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mamata Banerjee says no to Niti Aayog meet