Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देश'कोई UPA नहीं है' वाले ममता बनर्जी के बयान पर अब खड़गे ने दिया उपदेश, जानें क्या कहा

'कोई UPA नहीं है' वाले ममता बनर्जी के बयान पर अब खड़गे ने दिया उपदेश, जानें क्या कहा

लाइव हिन्दुस्तान ,नई दिल्लीSurya Prakash
Thu, 02 Dec 2021 10:48 AM
'कोई UPA नहीं है' वाले ममता बनर्जी के बयान पर अब खड़गे ने दिया उपदेश, जानें क्या कहा

इस खबर को सुनें

देश में यूपीए कहां है वाली ममता बनर्जी की टिप्पणी पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया सामने आई है। राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने ममता बनर्जी की टिप्पणी पर जवाब देते हुए उन्हें विपक्षी एकता का उपदेश दिया। खड़गे ने कहा, 'हमने ऐसे कई सामाजिक और आर्थिक मुद्दों पर टीएमसी को साथ लेने का प्रयास किया, जिन्हें कांग्रेस ने उठाया। विपक्ष को बंटना नहीं चाहिए। आप में लड़ने की बजाय हमें एक होकर भाजपा का मुकाबला करना चाहिए।' खड़गे से पहले केसी वेणुगोपाल ने बुधवार को ममता बनर्जी को पीएम फेस के तौर पर प्रोजेक्ट करने की टीएमसी की महत्वाकांक्षाओं पर टिप्पणी की थी। केसी वेणुगोपाल ने कहा था कि कांग्रेस के बिना भाजपा को हराने की बात करना एक सपना है और इसे कोई भी देख सकता है।

दरअसल ममता बनर्जी ने कल मुंबई में एनसीपी के मुखिया शरद पवार से मुलाकात की थी। इसके बाद वह एक सिविल सोसायटी के आयोजन में शामिल हुई थीं। इसमें कई कलाकार, पूर्व जज समेत कई हस्तियां मौजूद थीं। इस दौरान भी ममता बनर्जी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि देश में कुछ लोग भाजपा से लड़ने नहीं रहे हैं। कई लोग ऐसे हैं, जो आधा समय विदेश में ही बिताते हैं और कुछ नहीं कर रहे हैं। भले ही ममता बनर्जी ने किसी का नाम नहीं लिया था, लेकिन उनके बयान को सीधे तौर पर राहुल गांधी से ही जोड़कर देखा जा रहा है, जो कई बार विदेश यात्रा पर रहते हैं।

इससे पहले ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी भी राहुल गांधी पर खुलकर हमला बोल चुके हैं। कांग्रेस पार्टी और नेतृत्व का बिना नाम लिए ममता बनर्जी ने कहा कि जितनी मजबूती के साथ उन्हें भाजपा से लड़ना चाहिए उतनी मजबूती के साथ वो नहीं लड़ पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब कोई यूपीए यानी यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस नहीं है। ममता बनर्जी ने कहा अगर मैं देश में लोगों से मिल रही हूं तो इसमें समस्या क्या है। कुछ ऐसी पार्टियां और लोग हैं जो कुछ नहीं करते हैं। आधा समय तो वो विदेश में गुजारते हैं। कुछ नहीं करते। 

epaper

संबंधित खबरें