ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशएक्स के साथ किस होटल में गईं, दोस्त की पत्नी आपके संबंध जानती है; महुआ ने कमेटी पर लगाया 'वस्त्रहरण' का आरोप

एक्स के साथ किस होटल में गईं, दोस्त की पत्नी आपके संबंध जानती है; महुआ ने कमेटी पर लगाया 'वस्त्रहरण' का आरोप

टीएमसी सांसद ने कहा कि अध्यक्ष ने अपमानजनक तरीके से मुझसे सवाल पूछे। इस दौरान उपस्थित 11 सदस्यों में से पांच ने उनके शर्मनाक आचरण के विरोध में बहिर्गमन करते हुए कार्यवाही का बहिष्कार किया।

एक्स के साथ किस होटल में गईं, दोस्त की पत्नी आपके संबंध जानती है; महुआ ने कमेटी पर लगाया 'वस्त्रहरण' का आरोप
Amit Kumarएजेंसियां,नई दिल्लीFri, 03 Nov 2023 12:55 AM
ऐप पर पढ़ें

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद महुआ मोइत्रा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि पैसे लेकर सवाल पूछने से संबंधित आरोपों को लेकर आचार समिति के समक्ष पेशी के दौरान उनके साथ "अनैतिक, अशोभनीय, पूर्वाग्रहपूर्ण" व्यवहार किया गया। उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि समिति के अध्यक्ष भाजपा सांसद विनोद कुमार सोनकर ने मामले से संबंधित सवाल पूछने के बजाय, दुर्भावनापूर्ण और अपमानजनक तरीके से उनसे सवाल करके पूर्वनिर्धारित पूर्वाग्रह प्रकट किया।

मैं आज बहुत व्यथित हूं- मोइत्रा 

मोइत्रा ने कड़े शब्दों का इस्तेमाल करते हुए पत्र में लिखा, “मैं आज बहुत व्यथित होकर आपको पत्र लिख रही हूं ताकि आपको आचार समिति की सुनवाई के दौरान समिति के अध्यक्ष द्वारा मेरे साथ किए गए अनैतिक, घृणित और पूर्वाग्रहपूर्ण व्यवहार के बारे में जानकारी दे सकूं। मुहावरे की भाषा में कहूं तो उन्होंने समिति के सभी सदस्यों की उपस्थिति में मेरा वस्त्रहरण किया।”

टीएमसी सांसद ने कहा, “समिति को खुद को आचार समिति के अलावा कोई और नाम देना चाहिए क्योंकि इसमें कोई आचार और नैतिकता नहीं बची है। विषय से संबंधित प्रश्न पूछने के बजाय, अध्यक्ष ने दुर्भावनापूर्ण और स्पष्ट रूप से अपमानजनक तरीके से मुझसे सवाल पूछकर पहले से तय पूर्वाग्रह का प्रदर्शन किया। इस दौरान उपस्थित 11 सदस्यों में से पांच ने उनके शर्मनाक आचरण के विरोध में बहिर्गमन करते हुए कार्यवाही का बहिष्कार किया।”

वस्त्रहरण का सामना करना पड़ा- महुआ

इसके अलावा, महुआ ने 'पीटीआई-भाषा' को दिए इंटरव्यू में कहा कि उनसे उनके निजी जीवन के बारे में अप्रासंगिक जानकारी मांगी गई और उन्होंने अपना विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि वह किसी भी प्रासंगिक प्रश्न का उत्तर हलफनामे के माध्यम से देंगी। महुआ ने कहा कि हालांकि नियम कहते हैं कि समिति की बैठक में क्या होता है, किसी को इसके बारे में बात नहीं करनी चाहिए, लेकिन वह ऐसा इसलिए कर रही हैं, क्योंकि उन्हें मुहावरे की भाषा में कहें तो वस्त्रहरण का सामना करना पड़ा। महुआ ने आरोप लगाया, “समिति के (11 उपस्थित) सदस्यों में से पांच सदस्य उसके अध्यक्ष के व्यवहार का विरोध करते हुए बहिर्गमन कर गए। यह नाम की आचार समिति है, यह संभवतः सबसे अनैतिक पेशी थी। समिति के अध्यक्ष पहले से लिखी पटकथा लेकर आए थे, जिसे वह पढ़ रहे थे। इसमें मेरे निजी जीवन के बारे में सबसे घृणित, आक्रामक, निजी विवरण थे, जिसका पेशी से कोई लेना-देना नहीं था।”

"एक्स के साथ किसी होटल में गई थीं" 

महुआ ने कहा, "समिति के अध्यक्ष ने मेरे निजी जीवन के बारे में सबसे सस्ते अशोभनीय सवाल पूछने पर जोर दिया, जिसमें 'आप रात में किससे बात करती हैं, कितनी बार करती हैं, क्या आप मुझे कॉल विवरण दे सकती हैं', जैसे सवाल शामिल हैं। इसके अलावा, वह पूछ रहे थे कि 'क्या आप एक्स के साथ किसी होटल में गई थीं... क्या आप लोग वहां रुके थे', 'पिछले पांच साल में आपने क्या किया।' फिर उन्होंने पूछा, 'आप अमुक को अपना प्रिय दोस्त कहती हैं, क्या उसकी पत्नी को इस बारे में पता है';.... क्या चल रहा है? उन्हें (अध्यक्ष को) बार-बार चेतावनी दी गई थी।'

महुआ ने कहा कि केवल अध्यक्ष सवाल कर रहे थे और समिति में भाजपा सदस्यों का व्यवहार 'ठीक' था, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा, 'विपक्ष के पांच सदस्यों ने जोरदार विरोध किया और (अध्यक्ष से) कहा कि 'आप ऐसा नहीं कर सकते, लेकिन वह नहीं रुके।'  महुआ ने दावा किया कि अध्यक्ष एक सूची पढ़कर सवाल पूछ रहे थे। उन्होंने कहा, 'यह बहुत मूर्खतापूर्ण है... यह बेहद हास्यास्पद है।'

“आपत्तिजनक शब्दों” का इस्तेमाल 

महुआ के आरोपों को लेकर सोनकर ने बाद में कहा कि समिति को मामले की व्यापक जांच करने का काम सौंपा गया था और सहयोग करने के बजाय, मोइत्रा क्रोधित हो गईं, उन्होंने “आपत्तिजनक शब्दों” का इस्तेमाल किया और उनके खिलाफ अनैतिक दावे किए। मोइत्रा पर कारोबारी दर्शन हीरानंदानी के कहने पर संसद में सवाल पूछने का आरोप है। मोइत्रा के खिलाफ भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने शिकायत दर्ज कराई थी।

दुबे ने लोकसभा अध्यक्ष को 15 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में आरोप लगाया था कि मोइत्रा द्वारा लोकसभा में हाल के दिनों तक पूछे गये 61 प्रश्नों में से 50 प्रश्न अडाणी समूह पर केंद्रित थे। उन्होंने शिकायत में कहा है कि किसी समय मोइत्रा के करीबी रहे देहाद्रई ने मोइत्रा और कारोबारी दर्शन हीरानंदानी के बीच अडाणी समूह तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधने के लिए रिश्वत के लेनदेन के ऐसे साक्ष्य साझा किये हैं जिन्हें खारिज नहीं किया जा सकता। दुबे की शिकायत को लोकसभा अध्यक्ष ने आचार समिति के पास भेज दिया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें