ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशमोदी के इटली जाने से पहले खालिस्तानियों ने महात्मा गांधी की मूर्ति तोड़ी, लिखे नारे

मोदी के इटली जाने से पहले खालिस्तानियों ने महात्मा गांधी की मूर्ति तोड़ी, लिखे नारे

इटली में खालिस्तान समर्थकों ने महात्मा गांधी की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह घटना प्रधानमंत्री मोदी के जी7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए इटली जाने से कुछ दिन पहले हुई है।

मोदी के इटली जाने से पहले खालिस्तानियों ने महात्मा गांधी की मूर्ति तोड़ी, लिखे नारे
mahatma gandhi statue vandalized in italy
Jagritiलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 04:32 PM
ऐप पर पढ़ें

इटली में मंगलवार को महात्मा गांधी की एक मूर्ति को खालिस्तान समर्थकों ने तोड़ दिया है। प्रतिमा का उद्घाटन कुछ ही घंटों पहले किया गया था। आरोपियों ने खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर से जुड़े कुछ विवादित नारे भी लिखे हैं। यह घटना G7 शिखर सम्मेलन से कुछ दिन पहले हुई है जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे। 50 वें G7 समिट का शुभारंभ 14 जून से इटली में होना है। पीएम मोदी इटली के अपुलिया में समिट में हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री मोदी इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी के आमंत्रण पर यहां पहुंच रहे हैं। 

विदेश सचिव विनय लोहान क्वात्रा ने बताया है कि भारत ने इटली से इस संबंध में चिंता व्यक्त की है। उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि इस मामले में जरूरी कार्रवाई की गई है। यह पहली बार नहीं है जब इटली में इस तरह गांधी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया है। इससे पहले 2022 में इटली के मिलान में गांधी जी के स्मारक को खालिस्तानी समर्थकों ने तोड़ दिया था। खालिस्तानियों ने उस पर “खालिस्तान जिंदाबाद” जैसे नारे भी लिख दिए थे। 

खालिस्तान आंदोलन सिख समुदाय के लिए एक अलग देश के बनाने की मांग करता है। भारत में खालिस्तान आंदोलन का समर्थन करने वाले सिखों की संख्या कम है, लेकिन पश्चिमी देशों में बसे सिख भी आजादी का सपना देख रहे हैं। मार्च और जुलाई 2022 के बीच इटली में रहने वाले सिखों के बीच एक रेफ्रेंड्रम भी आयोजित किया गया था। यहां कथित तौर पर 62,000 सिखों ने आजाद खालिस्तान के लिए भारी बहुमत से मतदान किया था। ये आँकड़े एक सक्रिय सिख संगठन द्वारा जारी किए गए थे।