MAHARASHTRA Police forcibly Police break girls hunger strike - MAHARASHTRA: पुलिस ने लड़कियों की भूख हड़ताल जबरन तुड़वाई, राजनीतिक सरगर्मियां तेज DA Image
12 नबम्बर, 2019|9:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

MAHARASHTRA: पुलिस ने लड़कियों की भूख हड़ताल जबरन तुड़वाई, राजनीतिक सरगर्मियां तेज

(Pic for representation/HT file)

महाराष्ट्र पुलिस और स्थानीय प्रशासन ने शनिवार को अहमदनगर जिले के पुंताम्बा गांव में कृषि ऋणमाफी व अन्य मांगों को लेकर पिछले छह दिन से चल रही गरीब किसानों की तीन बेटियों भूख हड़ताल जबरन खत्म करवा दी। इससे राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं।  

पुलिस की एक टीम ने तड़के एक शामियाने पर धावा बोला और वहां अपने रिश्तेदारों और समर्थकों के साथ भूख हड़ताल पर बैठी तीन में से दो लड़िकयों निकिता जाधव और पूनम जाधव को उठाकर अहमदनगर सिविल अस्पताल ले गई। टीम ने आंदोलन के लिए लगाए गए शामियाने, बैनर और पोस्टर उखाड़ फेंके। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि वे अवैध रूप से लगाए गए थे। 

लड़कियों के साथ प्रदर्शन कर रहे रिश्तेदारों व समर्थकों को हिरासत में ले लिया गया, जबकि वहां मौजूद तमाशबीनों को खदेड़ दिया गया। पुलिस की इस कार्रवाई से गुस्साए पुंताम्बा ग्रामीणों ने बंदी का ऐलान किया और 19 शुभांगी जाधव सहित शुक्रवार को अस्पताल ले जाई गईं लड़कियों को तुरंत रिहा करने की मांग की। गांव में बीते तीन दिन के दौरान यह दूसरा बंद है।

शिवसेना और कांग्रेस का समर्थन था

रालेगण सिद्धि में अन्ना हजारे की सप्ताहभर चली भूख हड़ताल के बाद इन तीन लड़कियों की भूख हड़ताल को कई किसान समूहों, सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना और विपक्षी कांग्रेस व अन्य दलों का समर्थन प्राप्त था।

कृषि ऋणमाफी व अन्य मांगों को लेकर हड़ताल

निकिता, शुभांगी और पूनम के साथ-साथ उनके कॉलेज सहपाठियों और दोस्तों ने सभी कृषि ऋणमाफ करने, कृषि उपज के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य, 60 वर्ष से अधिक आयु के सभी किसानों के लिए पेंशन और कृषि उद्देश्यों के लिए मुफ्त बिजली सहित किसानों की अन्य मांगों को लेकर 4 फरवरी से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू की थी। ऐसी भी खबरें हैं कि लड़कियों को कथित रूप से उनकी मर्जी के खिलाफ आईसीयू में रखा गया है, लेकिन उन्होंने अपना आंदोलन जारी रखा हुआ है।

लोकसभा चुनाव 2019:BJP के चुनाव प्रचार में 15 लाख प्रशिक्षित कार्यकर्ता

छत्तीसगढ़ के आईपीएस अधिकारी नान घोटाले और अवैध फोन टेपिंग में निलम्बित

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:MAHARASHTRA Police forcibly Police break girls hunger strike