DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव के चलते मध्य प्रदेश के 15 हजार स्कूलों को हुआ ये फायदा

 madhya pradesh 15 thousand school get electricity due to lok sabha election

मूलभूत सुविधाओं से महरूम मध्य प्रदेश के दूरदराज के हजारों स्कूलों के बच्चे अब तक बिना बिजली के पढ़ाई करने को मजबूर थे लेकिन चुनावों में मतदान केंद्र बनाये जाने की वजह से इनके दिन फिर गये हैं और यहां बिजली-पानी जैसी बुनियादी सहूलियतें उपलब्ध हुई हैं।

निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मध्य प्रदेश के दूरदराज के इलाकों में स्थित 15 हजार प्राथमिक पाठशालाओं में चुनाव के दौरान बिजली के स्थायी कनेक्शन दे दिए गए। आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मध्य प्रदेश में चुनावी तैयारियों के बारे में राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) की रिपोर्ट में यह बात सामने आयी है। 

लोकसभा चुनाव नतीजे: उत्तर-प्रदेश में गठबंधन के फेल होने ये रहीं वजह

चुनावी तैयारियों के नाम पर बिजली पाने वाले स्कूलों के बच्चे अब चुनाव के बाद इस सुविधा से लाभान्वित हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि ये स्कूल राज्य के दूरदराज के उन इलाकों में स्थित हैं जिनमें किन्हीं कारणों से या तो बिजली कनेक्शन नहीं था या इनमें बिजली आपूर्ति की अस्थायी व्यवस्था की गयी थी। मतदान में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) एवं बिजली से चलने वाले अन्य तकनीकी उपकरणों के अनिवार्य प्रयोग की बाध्यता के कारण प्रत्येक मतदान केन्द्र में बिजली की उपलब्धता जरूरी है। 

रिपोर्ट के अनुसार मध्य प्रदेश में झाबुआ, रतलाम, बैतूल, और भिंड सहित अन्य पिछड़े क्षेत्रों के दूरदराज इलाकों में कुछ स्कूल ऐसे थे जिन्हें पहली बार मतदान केन्द्र बनाया गया। मध्य प्रदेश निर्वाचन कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इनमें बिजली का स्थायी कनेक्शन नहीं होने की बाधा को दूर करने के लिये राज्य के शिक्षा एवं ऊर्जा विभाग ने आयोग की पहल पर इन स्कूलों को युद्धस्तर पर अभियान चलाकर बिजली के स्थायी कनेक्शन से लैस किया। इससे मतदान प्रक्रिया के दौरान बिजली आपूर्ति बाधित होने के खतरे से निपटने में मदद मिली। 

जगनमोहन से मुलाकात के दौरान PM मोदी ने लगाया गले,इन मुद्दों पर हुई बात

चुनाव की तैयारियों के कारण मूलभूत सुविधाओं का लाभ बिहार के कुछ स्कूलों को भी मिला है। बिहार के सीईओ की रिपोर्ट के हवाले से आयोग के अधिकारी ने बताया कि राज्य में दर्जन भर से अधिक ऐसे प्राथमिक विद्यालयों को मतदान केन्द्र के रूप में चयनित किया गया जिनकी जर्जर इमारत थी। मतदान केन्द्र के रूप में इन्हें तैयार करने की प्रक्रिया के तहत स्कूलों के कमरों को रंगरोगन कर दुरुस्त किया गया। 

इस दौरान राज्य के शिक्षा विभाग ने चुनाव तैयारियां मुकम्मल करने के दबाव में स्कूलों की टूटी फूटी छत और दीवारों को दुरुस्त किया। साथ ही जिन स्कूलों में बिजली के पंखे और बल्ब आदि जरूरी उपकरण नहीं थे उन स्कूलों में यह उपकरण उपलब्ध कराए गए। अधिकारी ने बताया कि चुनाव के बाद इन सहूलियतों का लाभ छात्रों को होगा। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Madhya Pradesh 15 Thousand School get electricity due to lok sabha election