DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Loksabha elections 2019: BJP के लिए आने वाले 5 फेज हैं चुनौतीपूर्ण, 2014 में पार्टी ने जीती थी 223 सीटें

bjp                                         5                                                        2014                                                         223

लोकसभा चुनावों (Loksabha Election 2019) के पहले और दूसरे चरण में हुए बंपर वोटिंग से आने वाले चरणों में भी ज्यादा मतदान की उम्मीद बंधी है। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि तीसरे चरण से लोकसभा चुनावों का असली घमासान शुरू होने जा रहा है। बाकी पांच चरणों में 357 सीटों के लिए मतदान होना है और यह वही सीटें हैं, जहां भाजपा ने 2014 में 223 सीटें जीतकर अपनी सरकार सुनिश्चित की थी। 

इस तरह भाजपा के लिए यह सीटें व सरकार बचाने की चुनौती है, वहीं विपक्षी दलों के पास वापसी का एक बड़ा मौका है। 23 अप्रैल को होने वाला तीसरा चरण सबसे बड़ा 116 सीटों का होगा। इस चरण के बाद 302 सीटों के लिए मतदान के साथ ही आधे से ज्यादा सीटों का चुनाव पूरा हो जाएगा।

ये भी पढ़ें: AAP ने फिर से खोल दी गठबंधन की खिड़की, अब दिया ये नया फॉर्मूला

मजबूत गढ़ों में मिलेगी कांग्रेस से चुनौती 

तीसरे चरण में गुजरात में चुनाव है, जहां की सभी 26 सीटें भाजपा ने जीती थीं। कर्नाटक में भाजपा ने पिछली बार 17 सीटें जीती थी, इनमें 11 सीटों पर 23 अप्रैल (तीसरा चरण) को वोट डाले जाएंगे।

यूपी-बिहार में मजबूत विपक्षी गठबंधन 

उत्तर प्रदेश में 64 सीटों के लिए पांच चरणों में चुनाव होने हैं। भाजपा के पास इनमें से 57 सीटें हैं। चूंकि इस बार राज्य में सपा-बसपा का गठबंधन है, इसलिए भाजपा को सीटें बचाए रखने की कड़ी चुनौती है। 

बिहार में भी टक्कर

बिहार में 31 सीटों के लिए आने वाले पांच चरणों में मतदान होना है। पिछली बार भाजपा ने इनमें से 22 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार कुल 17 सीटों पर ही चुनाव लड़ रही है। विपक्ष में राजद, कांग्रेस, राकांपा, आरएलएसपी महागठबंधन के साथ चुनाव मैदान में भाजपा के गठबंधन को कड़ी चुनौती दे रहा है। 

मध्य प्रदेश, झारखंड व राजस्थान में बढ़ी मुश्किलें 

झारखंड में भाजपा ने 14 में 13 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार झामुमो, कांग्रेस के साथ स्थानीय व क्षेत्रीय दलों का मजबूत गठबंधन है। मध्य प्रदेश में भाजपा ने 29 में 27 सीटें जीती थीं, जबकि राजस्थान की सभी 25 सीटें उसकी झोली में आई थीं। दिल्ली में भाजपा ने सभी सीटें जीती थीं। हरियाणा में भाजपा ने दस में से आठ सीटें जीती थीं। हिमाचल की भी सभी सीटें भाजपा के पास हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:loksabha elections 2019 Big Five Challenges For BJP