DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

AAP-कांग्रेस में गठबंधन को लेकर केजरीवाल ने दिया ये बयान

Delhi CM Arvind Kejriwal (File Photo : PTI)

दिल्ली में उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री के अधिकारों को लेकर उच्चतम न्यायालय के गुरुवार को दिए निर्णय से सकते में आई आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार ने इसे दुभार्ग्यपूर्ण और राजधानी की जनता के प्रति अन्याय करार दिया। वहीं, भाषा के अनुसार, गठबंधन को लेकर अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि कांग्रेस ने AAP के साथ गठबंधन को काफी हद तक इंकार कर दिया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने अधिकारों को लेकर शीर्ष अदालत के फैसले को बहुत ही दुभार्ग्यपूर्ण और राजधानवासियों के साथ अन्याय करार दिया है। उन्होंने फैसले का उल्लेख करते हुए कहा कि चुनी हुई सरकार को अधिकारियों के तबादले का कोई अधिकार नहीं है ऐसे में सरकार कैसे चलेगी? 

पढ़ें: दिल्ली सरकार बनाम केंद्र : 'सुप्रीम कोर्ट का फैसला दिल्ली के लोगों के साथ अन्याय'

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) का अधिकार उपराज्यपाल के पास रहने पर सवाल खड़ा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, '40 साल से एसीबी दिल्ली सरकार के पास थी अब नहीं है, अगर कोई भ्रष्टाचार की शिकायत मुख्यमंत्री से करेगा तो उस पर कार्रवाई कैसे होगी?'

केजरीवाल ने फैसले के बाद बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जिस पार्टी के पास विधानसभा में 70 में से 67 सीटें हों वह अधिकारियों का तबादला नहीं कर सकती, किन्तु ऐसी पार्टी जिसके पास मात्र तीन सीटें हैं वह यह काम कर सकती है। यह कैसा लोकतंत्र और आदेश है?

उन्होंने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग करते हुए कहा कि इस फैसले की समीक्षा के लिए कानूनी राय ली जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा, 'एक-एक फाइल को पास कराने के लिए यदि हमें उपराज्यपाल के पास जाना होगा, तो सरकार काम कैसे करेगी?'

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:loksabha elections 2019 arvind kejriwal says about congress aap alliance