ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशइंडिया गठबंधन ने पार कर लिया 272 का आंकड़ा, अब 350 सीटों की ओर; कांग्रेस का दावा

इंडिया गठबंधन ने पार कर लिया 272 का आंकड़ा, अब 350 सीटों की ओर; कांग्रेस का दावा

रमेश ने एक्स पर पोस्ट किया, ‘आज छठे चरण का चुनाव खत्म हो गया। अब तक 486 सीटों पर वोटिंग हो चुकी है। अब, जब निवर्तमान प्रधानमंत्री ने अपनी सेवानिवृत्ति योजना पर विचार करना शुरू कर दिया है।'

इंडिया गठबंधन ने पार कर लिया 272 का आंकड़ा, अब 350 सीटों की ओर; कांग्रेस का दावा
Niteesh Kumarएजेंसी,नई दिल्लीSat, 25 May 2024 09:52 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के छठे चरण का मतदान संपन्न होने के बाद शनिवार को बड़ा दावा किया। मुख्य विपक्षी दल की ओर से कहा गया कि अब भाजपा की सत्ता से विदाई तय हो गई है। इंडिया गठबंधन 272 के आंकड़े को पार करने के बाद अब 350 से अधिक सीट जीतने की तरफ अग्रसर है। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने दावा किया कि हवा के रुख को भांपते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रिटायरमेंट पर विचार करना शुरू कर दिया है। रमेश ने एक्स पर पोस्ट किया, ‘आज छठे चरण का चुनाव खत्म हो गया। अब तक 486 सीटों पर वोटिंग हो चुकी है। अब, जब निवर्तमान प्रधानमंत्री ने अपनी सेवानिवृत्ति योजना पर विचार करना शुरू कर दिया है, तब 2024 के लोकसभा चुनाव की स्थिति बिलकुल स्पष्ट है।’

जयराम रमेश ने दावा किया, ‘भाजपा का सत्ता से जाना तय है। यह स्पष्ट हो गया है कि वे दक्षिण में साफ और उत्तर, पश्चिम व पूरब में हाफ हो रहे हैं।’ कांग्रेस नेता के अनुसार, पहले चरण के बाद से इंडिया जनबंधन लगातार मजबूत हुआ है। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बिहार और आज दिल्ली में मतदान के बाद हम गठबंधन के सहयोगियों के बीच अविश्वसनीय समन्वय देख रहे हैं। इंडिया जनबंधन पहले ही 272 सीटों के आंकड़े को पार कर चुका है और कुल मिलाकर 350 से अधिक सीटें जीतने की ओर बढ़ रहा है। देश के मतदाता निवर्तमान प्रधानमंत्री के विश्वासघात और चालाकी को समझ चुके हैं।

'पीएम के पास रिटायरमेंट योजना बनाने के लिए अतिरिक्त समय'
कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दावा किया, ‘निवर्तमान प्रधानमंत्री के पास अपनी सेवानिवृत्ति योजना बनाने के लिए अतिरिक्त समय है, क्योंकि भाजपा का अभियान जल्द ही समाप्त हो रहा है। भाजपा हरियाणा और पंजाब में प्रचार भी नहीं कर सकती है, क्योंकि उसके नेताओं को लोग गांवों से बाहर निकाल रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि किसान विरोधी सरकार के प्रति किसानों का गुस्सा चरम पर है और उनका इस सरकार से पूरी तरह से मोहभंग हो चुका है। कांग्रेस महासचिव ने आरोप लगाया, ‘अब, जब निवर्तमान प्रधानमंत्री को हार बिलकुल नजदीक दिख रही है, तब वह और भी ज्यादा भ्रामक बातें कर रहे हैं। उन्होंने अब कहा है कि उनका जन्म नहीं हुआ था, उन्हें स्वयं परमात्मा ने भेजा है। शायद वह अपने अगले करियर में खुद को गॉडमैन के रूप में देख रहे हैं। यहां तक ​​कि उनके चेले-चपाटों ने भी उनकी इस बात को स्वीकार कर लिया है। पुरी से भाजपा उम्मीदवार संबित पात्रा ने कहा कि भगवान जगन्नाथ भी निवर्तमान प्रधानमंत्री के भक्त हैं।’

जयराम रमेश ने कहा कि भारत के मतदाता इन दोनों को सबक सिखाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘यह चुनाव कांग्रेस पार्टी के सकारात्मक चुनावी अभियान के आस-पास केंद्रित रहा है। हमारा न्याय पत्र और हमारी गारंटियां सभी दलों के प्रचार के केंद्र में है। खटा-खट के नारे ने लोगों का ध्यान इस हद तक खींचा है कि निवर्तमान प्रधानमंत्री भी इस पर प्रतिक्रिया देने को मजबूर हो गए हैं।’ कांग्रेस नेता ने कहा कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रत्येक व्यक्ति के लिए मुफ्त अनाज के आवंटन को दोगुना करने की अंतिम गारंटी की घोषणा ने उत्तर और पूर्वी भारत में जबरदस्त माहौल बनाया है।

'भाजपा हर दिन आदर्श आचार संहिता का कर रही उल्लंघन'
रमेश ने निर्वाचन आयोग पर निशाना साधते हुए कहा, ‘इस बीच चुनाव आयोग का लगातार सोते रहना दुर्भाग्यपूर्ण है। निवर्तमान प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भाजपा हर दिन आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करती है। मतदान में धार्मिक प्रतीकों का इस्तेमाल, मतदान के दिन विज्ञापन, सोशल मीडिया पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा बार-बार मतदान करते हुए वीडियो डालना, इन सभी ने निवर्तमान प्रधानमंत्री को जवाबदेह ठहराने की चुनाव आयोग की क्षमता पर सवाल उठाए हैं।’ उन्होंने कहा कि हम मतदान समापन के बाद जल्द से जल्द मतदान के अंतिम आंकड़ों को जारी करने की उम्मीद करते हैं। फॉर्म 17 सी को सार्वजनिक रूप से जारी करने से इनकार करना चुनाव आयोग के पारदर्शिता के आदर्शों के विपरीत है। यह चुनाव प्रणाली में विश्वास को कम करता है। रमेश ने दावा किया, ‘हर एक जमीनी रिपोर्ट से बिल्कुल साफ है कि हवा बदल रही है, आंधी का रूप धारण कर चुकी है। इंडिया जनबंधन राजग को हराने जा रहा है।’