ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशमहुआ मोइत्रा की मुश्किलें बढ़ीं, सोमवार को पेश की जाएगी निष्कासन संबंधी एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट

महुआ मोइत्रा की मुश्किलें बढ़ीं, सोमवार को पेश की जाएगी निष्कासन संबंधी एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट

समिति ने गत 9 नवंबर को एक बैठक में मोइत्रा को लोकसभा से निष्कासित करने की सिफारिश करते हुए अपनी रिपोर्ट स्वीकारी थी। समिति के छह सदस्यों ने रिपोर्ट के पक्ष में मतदान किया था।

महुआ मोइत्रा की मुश्किलें बढ़ीं, सोमवार को पेश की जाएगी निष्कासन संबंधी एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Dec 2023 10:33 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा में सवाल पूछने के बदले पैसे लेने के आरोपों में घिरीं तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं। लोकसभा की एथिक्स कमेटी की वह रिपोर्ट संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को निचले सदन में पेश की जाएगी जिसमें तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा को 'रिश्वत लेकर सवाल पूछने' के मामले में सदन से निष्कासित करने की अनुशंसा की गई है।

लोकसभा सचिवालय द्वारा प्रसारित कार्य सूची के अनुसार, आचार समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार सोनकर समिति की रिपोर्ट सदन के पटल पर रखेंगे। समिति ने गत 9 नवंबर को एक बैठक में मोइत्रा को लोकसभा से निष्कासित करने की सिफारिश करते हुए अपनी रिपोर्ट स्वीकारी थी। समिति के छह सदस्यों ने रिपोर्ट के पक्ष में मतदान किया था, जिसमें कांग्रेस सांसद परनीत कौर भी शामिल थीं, जिन्हें पहले ही पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। विपक्षी दलों से संबंधित समिति के चार सदस्यों ने असहमति नोट प्रस्तुत किए।

विपक्षी सदस्यों ने रिपोर्ट को "फिक्स्ड मैच" (पहले से नतीजा तय किया हुआ मैच) करार दिया था और कहा था कि भाजपा के लोकसभा सदस्य निशिकांत दुबे द्वारा की गई शिकायत के पक्ष में कुछ सबूत नहीं दिए गए थे। अगर सदन इस रिपोर्ट को अनुमोदित कर देता है तो मोइत्रा की सदस्यता खत्म हो जाएगी। संसद का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है और 22 दिसंबर तक चलेगा। 

सरकार ने संसद सत्र से पहले शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई
इसके अलावा, सरकार ने संसद के शीतकालीन सत्र से पहले शनिवार को लोकसभा और राज्यसभा में विभिन्न दलों के नेताओं की बैठक बुलाई है। संसद का शीतकालीन सत्र चार दिसंबर से शुरू होगा और इसका 22 दिसंबर तक चलना प्रस्तावित है। इस दौरान 15 बैठकें होंगी जिनमें कुछ महत्वपूर्ण विधेयकों पर चर्चा की जा सकती है। इनमें ब्रिटिश कालीन तीन अपराध कानूनों - भारतीय दंड संहिता, दंड प्रक्रिया संहिता और साक्ष्य अधिनियम को बदलने के लिए लाए गए विधेयक भी शामिल हैं। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी शनिवार को बैठक बुलाएंगे जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल समेत वरिष्ठ नेता भाग ले सकते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें