DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनावः हिमाचल प्रदेश में भाजपा पर पिछली जीत दोहराने का दबाव

bjp supporters wear saree imprinted with pm narendra modi portrait and hold party flags in election

हिमाचल प्रदेश में लोकसभा की चार सीटों के लिए मतदान में अभी एक महीने का वक्त है, इसलिए चुनावी पारा वहां धीरे-धीरे चढ़ रहा है। राज्य में भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है। भाजपा के समक्ष चुनौती है कि वह पिछली बार की भांति सभी चार सीटों को फिर से हासिल करे, वहीं कांग्रेस की कोशिश है कि वह भाजपा को पिछली जीत नहीं दोहराने दे। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि इस बार मुकाबला कहीं ज्यादा कड़ा है।

हिमाचल में लोकसभा की चार सीटें शिमला, मंडी, हमीरपुर और कांगड़ा हैं। भाजपा ने उम्र के आधार पर अपने दो सांसदों शांता कुमार (कांगड़ा) और वीरेन्द्र कश्यप (शिमला) के टिकट काट दिए। जबकि हमीरपुर से अनुराग ठाकुर और मंडी से रामस्वरूप शर्मा को फिर से टिकट दिया गया है। 

वरिष्ठों की नाराजगी

सूत्रों की मानें तो इन चुनावों में भाजपा को जो बातें कमजोर बनाती हैं, उनमें दो वरिष्ठ नेताओं का टिकट काटना है। शांता कुमार ने तो सार्वजनिक तौर पर बयान भी दिया कि पार्टी ने वरिष्ठता का ख्याल नहीं रखा। 75 वर्ष की उम्र पार करने से उनका टिकट काटा गया है। इसलिए उनकी नाराजगी चुनाव को प्रभावित कर सकती है।

शिमला सीट पर वीरेंद्र कश्यप की जगह सुरेश कश्यप को टिकट दिया गया है। कश्यप का काम अच्छा नहीं होने से टिकट कटा है। पर यहां पर कांग्रेस ने कहीं ज्यादा दमदार उम्मीदवार कर्नल धनीराम शांडिल्य को उतारा है। हमीरपुर सीट पर भाजपा की स्थिति मजबूत है। अनुराग ठाकुर यहां से चौथी बार जीतने को जी जान लगाए हुए हैं। कांग्रेस अभी दमदार उम्मीदवार उनके खिलाफ नहीं तलाश कर पाई है। कांगड़ा में पार्टी ने पवन काजल पर दांव लगाया है।यहां कांग्रेस का प्रभाव अच्छा है। 

मंडी सीट पर मुख्यमंत्री की प्रतिष्ठा दांव पर

मंडी सीट पर दोनों दलों में कड़ी टक्कर की संभावना है। यहां से निवर्तमान सांसद रामस्वरूप शर्मा लड़ रहे हैं। यह क्षेत्र सीएम जयराम ठाकुर का इलाका है। इसलिए यह उनके लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न है। कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम के पौते आश्रय शर्मा को मैदान में उतारा है। सुखराम इसी इलाके के और पुराने नेता हैं। इसलिए पोते को जिताने के लिए 91 वर्षीय सुखराम की अपील लोगों को प्रभावित करेगी। 

मैं अपना बयान वापस लेती हूं और उसके लिये माफी मांगती हूंः साध्वी

लोकसभा चुनाव 2019: नमो टीवी पर लाइव भाषण का प्रसारण संभव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections pressure to repeat past victory over BJP in Himachal Pradesh