DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: सीधे मुकाबले वाले राज्यों में कांग्रेस का ज्यादा ध्यान

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस सभी प्रदेशों में अलग-अलग प्रचार रणनीति अपना रही है। पार्टी उन राज्यों पर अधिक ध्यान केंद्रित कर रही है, जहां उसका भाजपा से सीधा मुकाबला है। ऐसे प्रदेशों में कांग्रेस का रुख दूसरे राज्यों के मुकाबले अधिक आक्रामक है, वहीं भाजपा के सामने वर्ष 2014 का प्रदर्शन दोहराने की चुनौती है। 

प्रदर्शन दोहराना आसान नहीं : 
रणनीतिकार मानते हैं कि भाजपा के लिए पिछला प्रदर्शन दोहराना आसान नहीं है। ऐसे में भाजपा से सीधे मुकाबले वाले राज्यों में कांग्रेस को लाभ मिल सकता है। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, गुजरात, हरियाणा और उत्तराखंड में कांग्रेस का भाजपा से सीधा मुकाबला है। इनमें से तीन प्रदेश छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में पार्टी ने कुछ माह पहले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर सरकार बनाई है।  

अच्छे प्रदर्शन का दावा :
कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने दावा करते हुए कहा कि इन तीनों प्रदेशों में पार्टी का प्रदर्शन पिछले चुनाव के मुकाबले बहुत अच्छा रहेगा। इसके अलावा गुजरात में पार्टी अच्छा प्रदर्शन करेगी। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 104 सीटें जीती थीं। 

सीटें तीन हिस्सों में बांटीं :
भाजपा से सीधे मुकाबले वाले प्रदेशों में पार्टी ने सभी सीटों को तीन हिस्सों में विभाजित किया है। पार्टी उन सीट पर अधिक ध्यान केंद्रित कर रही है, जहां जीत लगभग तय है। इसके बाद दूसरे नंबर पर उन सीट को रखा है, जहां मुकाबला बेहद करीब है। तीसरे नंबर पर वो सीटें आती हैं, जहां जीत की संभावना बेहद कम है। 

लोकसभा चुनाव: नेतृत्व और भाषण कला भी डालती है युवा वोटर पर असर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections Congress gets more attention in directly contesting states