Lok Sabha elections: BJP and SP workers Clash in Chandauli know what is the reason - लोकसभा चुनाव: चंदौली में भिड़े BJP और SP कार्यकर्ता, जानें क्या है वजह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: चंदौली में भिड़े BJP और SP कार्यकर्ता, जानें क्या है वजह

 lok sabha elections  bjp and sp workers clash in chandauli

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में रविवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पूर्वी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में 13 संसदीय सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से जारी है। वहीं उत्तर-प्रदेश की चंदौली लोकसभा सीट पर बीजेपी और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता भिड़ गए। पुलिस ने दोनों पार्टियों को हटाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी किया। 

बताया जा रहा है कि चंदौली में मुगलसराय के परशुरामपुर मतदान केंद्र पर भाजपा-सपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों पार्टियों के कार्याकर्ताओं में मतदान केंद्र में पार्टी का झंडा टांगने को लेकर विवाद शुरू हुआ था और बाद में नौबत मारपीट तक आ गई। पुलिस ने दोनों दलों के कार्यकर्ताओं को हटालने के लिए हल्का बल प्रयोग किया जिसमें तीन लोग घायल हो गए है। 

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर नीतीश के बयान के बाद राबड़ी देवी का पलटवार

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर रविवार सुबह सात बजे मतदान शुरू हो गया और शुरूआती दो घंटे में 10.06 प्रतिशत मतदान हुआ। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के मुताबिक शुरूआती दो घंटे में नौ बजे तक महाराजगंज में 8.90 प्रतिशत, गोरखपुर 11.07, कुशीनगर 9.30 प्रतिशत, देवरिया 11.02, बांसगांव 9.87, घोसी 9.45,सलेमपुर 9.24, बलिया 8.70, गाजीपुर 10.75, चंदौली 10.18, वाराणसी 9.90, मिर्जापुर 13.20 और राबर्टसगंज में 9.15 प्रतिशत मतदान हुआ।

इस चरण में वाराणसी के अलावा गाजीपुर, मिर्जापुर, महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, चंदौली और रॉबट्र्सगंज सीटों के लिये मतदान हो रहा है। इस चरण में कुल 167 प्रत्याशी मैदान में हैं।

सातवें चरण में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा केन्द्रीय मंत्री मनोज सिन्हा (गाजीपुर), अनुप्रिया पटेल (मिर्जापुर), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय (चंदौली), पूर्व केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आर.पी.एन. सिंह (कुशीनगर) जैसी सियासी हस्तियों के भाग्य का फैसला होगा।

लोकसभा चुनाव: बिहार में तेज प्रताप के बाउंसरों ने पत्रकारों को पीटा

सबकी निगाहें प्रधानमंत्री मोदी के निर्वाचन क्षेत्र बनारस पर लगी हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में चली लहर का केन्द्र बने मोदी ने करीब तीन लाख 72 हजार मतों से यह सीट जीती थी। इस बार भी उनकी जीत सुनिश्चित मान रही भाजपा के सामने मोदी को पिछली दफा के मुकाबले अधिक मतों से जिताने की चुनौती है।

वैसे तो भाजपा ने गोरखपुर सीट पर भोजपुरी अभिनेता रवि किशन को मैदान में उतारा है, मगर इसे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रतिष्ठा से जोड़कर देखा जा रहा है। योगी यहां से पांच बार सांसद चुने जा चुके हैं। हालांकि पिछले साल इस सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा को सपा के हाथों पराजय का सामना करना पड़ा था। लिहाजा इस बार यह सीट जीतना भाजपा के लिये प्रतिष्ठा का सवाल है।

केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से दोबारा संसद पहुंचने की उम्मीद लगाये हैं। ऊंट किस करवट बैठेगा, यह 23 मई को पता चलेगा। सातवें चरण में भाजपा 11 सीटों पर जबकि उसका सहयोगी अपना दल-सोनेलाल मिर्जापुर और रॉबट्र्सगंज सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। पिछले लोकसभा चुनाव में सातवें चरण की सभी 13 सीटों पर भाजपा और उसके सहयोगी ने ही जीत दर्ज की थी।

इस चरण का मतदान महागठबंधन कर चुनाव लड़ रहे सपा के आठ और बसपा के पांच प्रत्याशियों के भाग्य का भी फैसला करेगा। पिछले लोकसभा चुनाव में लगभग धराशायी हो चुके सपा और बसपा का इस दफा गठबंधन बन जाने से वह भाजपा के लिये एक चुनौती के तौर पर उभरता दिख रहा है।

बशीरहाट: वोटर्स का प्रदर्शन ,कहा-TMC वर्कर्स ने वोट डालने से रोका

इस चरण में 167 उम्मीदवार मैदान में हैं। सबसे ज्यादा 26 प्रत्याशी वाराणसी में ताल ठोंक रहे हैं। इस चरण में दो करोड़ 32 लाख से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। मतदान के लिये 13979 मतदान केन्द्र और 25874 मतदेय स्थल बनाये गये है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha elections: BJP and SP workers Clash in Chandauli know what is the reason