Lok Sabha Elections 2019: know all about the Lok Janshakti Party leader chirag paswan - मैदान के महारथी : चिराग पासवान पर पिता की विरासत आगे ले जाने की जिम्मदारी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैदान के महारथी : चिराग पासवान पर पिता की विरासत आगे ले जाने की जिम्मदारी

chirag paswan

चिराग पासवान बिहार के कद्दावर दलित नेता और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के पुत्र हैं। चिराग ने पहले फिल्मों में किस्मत आजमाई पर वहां कमाल नहीं दिखा सके, फिर राजनीति का रुख किया। 36 वर्षीय चिराग ने वर्ष 2014 में पहली बार चुनाव लड़ा और जमुई से 16वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में चुने गए। 

चिराग ने जिस दौर में राजनीति में कदम रखा उस वक्त उनके पिता की लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) की हालात बिहार में कुछ खास अच्छी नहीं थी। पर 2014 के चुनाव से पहले लोजपा का भाजपा के साथ गठबंधन हुआ। इसमें लोजपा को राज्य में सात सीटें मिलीं जिसमें पार्टी ने छह सीटों पर जीत हासिल की। माना जाता है कि लोजपा का भाजपा के साथ जाने के फैसले के पीछे चिराग ही थे जिसका पार्टी को बड़ा लाभ हुआ। बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए के दलों के बीच सीट बंटवारा हो चुका है। जेडीयू और भाजपा 17-17 सीटों पर जबकि लोजपा छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी। 

पार्टी की बागडोर चिराग के हवाले : चिराग को लोकजनशक्ति पार्टी में संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है। रामविलास पासवान ने उन्हें पार्टी से जुड़े तमाम फैसले लेने के लिए अधिकृत कर दिया है। दूसरे शब्दों में कहें तो पार्टी की बागडोर अब उनके ही हाथ में है। उन पर अब पिता से मिली सियासी विरासत को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है।

 

जमुई लोकसभा सीट: अस्तित्व में आने के बाद से ही जमुई पर राजग का रहा कब्जा
 

चिराग पास का बढ़ता आत्मविश्वास
चिराग 36 साल की उम्र में अभी अविविहित हैं। पर पिछले पांच साल में सांसद के तौर पर वे काफी परिपक्व हुए हैं। वे कोई भी राजनीतिक बयान बड़े सधे हुए अंदाज में देते हैं। उनके आत्मविश्वास का स्तर बढ़ा है।

बॉलीवुड में भी किस्मत आजमाई 
राजनीति में प्रवेश करने से पहले चिराग ने बॉलीवुड में शुरुआत की। 2011 में उनकी फिल्म मिले न मिले हम आई लेकिन बॉक्स ऑफिस पर कोई कमाल नहीं दिखा पाई। इस फिल्म में उनके साथ तीन-तीन नायिकाएं- कंगना रनौत, नीरू बाजवा और सागरिका घाटगे थीं। 

चिराग का निजी जीवन

चिराग का जन्म 31 अक्तूबर 1982 को बिहार के खगड़यिा में हुआ।
स्कूली पढ़ाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग से की।
वह फैशन डिजाइनिंग में भी खासी रुचि रखते हैं।

चिराग का राजनीतिक जीवन
2014 के चुनाव में बिहार के जमुई लोकसभा क्षेत्र से चिराग पासवान ने चुनाव जीता। 
उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल के सुधांशु शेखर भास्कर को 85,945 मतों से पराजित किया। 
चिराग को 2,85,352 मत मिले
सुधांशु शेखर को 1,99,407 वोट 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha Elections 2019: know all about the Lok Janshakti Party leader chirag paswan