ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशदक्षिण और पश्चिम में खत्म चुनावी लड़ाई, अब यूपी समेत उत्तर भारत पर सबकी नजर

दक्षिण और पश्चिम में खत्म चुनावी लड़ाई, अब यूपी समेत उत्तर भारत पर सबकी नजर

लोकसभा चुनाव अब उत्तर भारत की ओर शिफ्ट हो रहा है। दक्षिण के ज्यादातर राज्यों में वोटिंग हो चुकी है। वहीं अब उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, जम्मू-कश्मीर और पंजाब में ज्यादा सीटों पर मतदान होना है।

दक्षिण और पश्चिम में खत्म चुनावी लड़ाई, अब यूपी समेत उत्तर भारत पर सबकी नजर
Ankit Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 10:52 AM
ऐप पर पढ़ें

चौथे चरण के चुनाव खत्म होते ही अब राजनीतिक अखाड़ा दक्षिण और मध्य भारत से निकलकर उत्तर की तरफ शिफ्ट हो गया है। अब राजनीतिक दलों ने भी उत्तर के राज्यों में फोकस बढ़ा दिया है। आगामी तीन चरणों में उत्तर प्रदेश की 41 सीटों पर मतदान होना है। इसमें उत्तर प्रदेश की कई हॉट सीट्स जैसे कि वाराणसी, गोरखपुर आजमगढ़, बलिया और गाजीपुर शामिल है। बीते लोकसभा चुनाव में भाजपा का प्रदर्शन बहुत अच्छा था। इनमें से ज्यादातर सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की थी। 

पश्चिम बंगाल में भी कुल 42 में से अभी 24 सीटों पर मतदान बाकी है। पश्चिम बंगाल में भाजपा और टीएमसी के बीच कड़ी टक्कर बताई जा रही है। कई केंद्रीय मंत्री भी पश्चिम बंगाल के चुनाव प्रचार में उतरे हैं। वहीं टीएमसी की अगुआई खुद ममता बनर्जी कर रही हैं। बिहार की बात करें तो अभी 40 में से 21 सीटों पर वोटिंग बाकी है। 2019 के चुनाव में एनडीए ने 21 सीटों पर जीतहासिल की थी। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पटना में रोडशो किया। पटना लोकसभा सीट पर 1 जून को मतदान होना है। 

भाजपा के सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी अभी बिहार में कई जनसभाएँ करेंगे।वहीं विपक्षी आरजेडी की तरफ से तेजस्वी यादव चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। बता दें कि 2019 के चुनाव में आरजेडी को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली थी। 

ओडिशा में इस बार लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ में ही कराए जा रहे हैं। 21 में से 17 लोकसभा सीटों पर मतदान आखिरी के तीन चरणों में होना है। भाजपा ने 2019 में ओडिशा में आठ सीटें हासिल की थीं। भाजपा का फोकस इस बार लोकसभा में स्थिति मजबूत करने और विधानसभा में सत्ता परिवर्तन की है। हालांकि राज्य में बीजू जनता दल की स्थिति भी मजबूत है। झारखंड में भी अगले तीन चरणों में 14 में से 10 सीटों पर मतदान होना है। यहां कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधी टक्कर है। 

दिल्ली, हरियाणा की सात और 10 लोकसभी सीटों पर भी छठे चरण में 25 मई को मतदान होना है। दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी मिलकर चुनाव लड़ रही है। 2019 के चुनाव में दिल्ली में भाजपा ने सभी सात सीटों पर जीत दर्ज की थी। चुनाव प्रचार के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी जेल से बाहर आ गए हैं। पंजाब, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ की भी 18 सीटों पर मतदान आखिरी चरण में होना है। पंजाब में मुकाबला चतुष्कोणीय है। यहां आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, बीजेपी के अलावा शिरोमणि अकाली दल भी मैदान में है। 

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में बारामुला और लद्दाख में पांचवें चरण में 20 मई को मतदान होना है। महाराष्ट्र  की 13 बची हुई लोकसभी सीटों पर भी 20 मई को वोट पड़ेंगे। इस बार महाराष्ट्र में इंडिया गठबंधन पूरा जोर लगा रहा है। एनसीपी, कांग्रेस और शिवेसेना (यूबीटी) महाराष्ट्र के चुनाव में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती।